दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों का 15 साल पुराना रिकॉर्ड टूटा, मुंबई में 80 के पास

दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों का 15 साल पुराना रिकॉर्ड टूटा, मुंबई में 80 के पास

नई दिल्ली: देश भर में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ने का सिलसिला अभी भी जारी है. जहां डीजल 62 के पार चला गया है, वहीं पेट्रोल भी 80 रुपये प्रति लीटर के करीब पहुंच गए हैं. पूरे देश में इनके प्राइस सबसे ज्यादा मुंबई में हैं. देश की राजधानी दिल्ली में डीजल की कीमत 2002 के बाद अब अपने सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है. वहीं कोलकाता में यह तीन साल के रिकॉर्ड पर है. इससे पहले अगस्त 2014 में डीजल की कीमतें देश के तीन बड़े महानगरों मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में सबसे ज्यादा थी.

1 जुलाई से दिल्ली में पेट्रोल की कीमतों में 7 रुपये 74 प्रति लीटर की बढ़ोतरी हो चुकी है. वहीं डीजल के दाम में 5.74 रुपये प्रति लीटर का इजाफा हुआ है. दिल्ली में 2 अक्टूबर को पेट्रोल 70.83 रुपये  और डीजल 59.07 रुपये की दर से बेचा गया.

वहीं कोलकाता में पेट्रोल 73.57 रुपये, मुंबई में 79.94 रुपये और चेन्नई में 73.43 रुपये की दर से बिका. अगर डीजल की बात करें तो कोलकाता में 2 अक्टूबर को यह 61.73 रुपये, मुंबई में 62.75 रुपये और चेन्नई में 62.22 रुपये की दर थी.

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने हाल में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी के लिए अमेरिका में आए तूफान हरीकेन को जिम्मेदार ठहराया है. प्रधान ने भरोसा दिया था कि अगले कुछ दिनों में ईंधन की कीमतों में कमी आएगी. लेकिन इसके बावजूद कीमतें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं.

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री प्रधान ने कहा, ‘अमेरिका में हरीकेन तूफान के कारण हाल में ईंधन की कीमतों में बढ़ोतरी हुई. जैसे ही अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमतों में कमी होगी, ईंधन की कीमतों में कमी आ जाएगी.’

पेट्रोल और डीजल के मूल्य पिछले 20 सालों से बाजार से जुड़े हुए हैं. पेट्रोलियम उत्पादों पर टैक्स में कमी की संभावना के सवाल पर प्रधान ने कहा कि आधारभूत ढांचे के विकास और कल्याणकारी योजनाओं के मद्देनजर करों में कटौती नहीं की जाएगी.