जैन समाज को बड़ा झटका, मुनि शांतिसागर दुष्कर्म में गिरफ्तार

जैन समाज को बड़ा झटका, मुनि शांतिसागर दुष्कर्म में गिरफ्तार




नई दिल्ली : जैन समाज के बेहद सम्मानित जैनमुनि शांतिसागर महाराज (45) को शनिवार देर रात दुष्कर्म के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया. मूल रूप से मध्यप्रदेश की निवासी 19 साल की लड़की ने उन पर दुष्कर्म का आरोप लगाया है. गुजरात के सूरत में पुलिस ने शुक्रवार को उनके खिलाफ केस दर्ज किया था.

शनिवार को मेडिकल जांच में दुष्कर्म की पुष्टि होने के बाद जैन मुनि को गिरफ्तार कर लिया गया. सूरत पुलिस के आयुक्त सतीश शर्मा ने बताया कि लड़की वडोदरा में कॉलेज में पढ़ती है. लड़की ने सूरत के पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर जैन मुनि पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था. आरोप है कि जैन मुनि ने एक अक्टूबर को शहर के नानपुरा टीमलियावाड जैन मंदिर में उससे दुष्कर्म किया.

अपने परिजनों के साथ वह धार्मिक कार्यक्रम के सिलसिले में वहां गई थी. जैन मुनि इस दौरान सूरत में चातुर्मास के लिए रह रहे थे. जांच में आरोपों की पुष्टि होने के बाद शुक्रवार को अठवा थाने में केस दर्ज किया गया. शनिवार को अस्पताल में युवती का मेडिकल कराया गया.

कहा- शोर मचाया तो मां-बाप मर जाएंगे

लड़कीने शिकायत में बताया कि वह अपने माता-पिता के साथ मंदिर गई थी. मुनि ने मंत्र जाप के नाम पर उन्हें मंदिर में ही रोका था. माता-पिता को एक कमरे में मंत्र जाप के लिए भेज दिया. दूसरे कमरे में उसके साथ दुष्कर्म किया. इस दौरान मुनि ने धमकाया कि विरोध करने या शोर मचाने पर उसके मां-बाप मर जाएंगे. इससे वह डर गई और मुनि का विरोध नहीं किया.