रघुराम राजन का एक और बयान- हवा में उड़ना बंद करे भारत, काम करें – शोर कम

रघुराम राजन का एक और बयान- हवा में उड़ना बंद करे भारत, काम करें – शोर कम




नई दिल्ली: प्रमुख अर्थशास्त्री और भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन का एक और बयान सामने आया है. रघुराम राजन का कहना है कि भारत के पास अपार संभावनाएं है. वो आगे बहुत कुछ कर सकता है लेकिन उसे हवा में उड़ना बंद करना होगा. खुद पर झूठा गर्व करना बंद करना होगा और आत्मसंतुष्टि से बचना होगा. अपनी किताब के विमोचन के सिलसिले में राजन ने कहा, – हम हर जगह कहें कि हम श्रेष्ठ हैं और हमारे जैसा कोई नहीं है. तो ये गलत है. उन्होंने कहा कि पहली बात तो यह सत्य नहीं है. दूसरा हमें काफी काम करना है.

राजन ने भारत के लिए अंधों में काना राजा वाले अपने विवादास्पद बयान का भी बचाव किया और कहा कि पिछले साल अप्रैल में उनकी टिप्पणी के बाद से जीडीप में हर तिमाही में घटी है.

उन्होंने कहा कि भारत में भारी संभावनाएं है और आने वाले वर्षों में हम और बहुत कुछ कर सकते हैं. राजन ने कहा कि भरोसा रखें कि हम यह कर सकते हैं. चलो यह कर दिखाएं. लेकिन जब कुछ कर लें तभी तभी खुश हों और गर्व करें. हम कर कम रहे हैं और आत्मसंतुष्टि के फेर में पड़ गए हैं.

इसके साथ ही राजन ने वृद्धि के मामले में चीन के साथ तुलना को लेकर एक तरह से सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा इस मामले में तकलीफदेय सवालों का सामना करने से यही अच्छा है कि हम कम से कम वादे करते हुए अधिक से अधिक हासिल करें.

इससे पहले रघुराम राजन ने कहा था कि उन्होंने कभी बहुचर्चित नोटबंदी का समर्थन नहीं किया बल्कि उन्होंने मोदी सरकार को इसके संभावित नुकसानों के प्रति आगाह किया था. राजन ने अपनी पुस्तक आय डू वाट आय डू: ऑन रिफार्म्स रिटोरिक एंड रिजॉल्व में यह खुलासा किया है.