जयपुर में कर्फ्यू और थाने में आगजनी, एक पुलिसवाले की मौत

जयपुर में कर्फ्यू और थाने में आगजनी, एक पुलिसवाले की मौत




नई दिल्ली :  गरीबों के शरीर पर पुलिस वाले अपने पिता का राज समझते हैं. जब चाहे थप्पड़ लगा दिया जब चाहे डंडा जड़ दिया. जिसे चाहे रातभर थाने में लेजाकर हाथ पांव तोड़ दिए. लेकिन जयपुर में एक मोटरसाइकिल सवार को डंडे से पीटने से मामला बिगड़ गया. जवाब में यहां लोगों ने थाने पर हमला कर दिया. संघर्ष इतना बढ़ा की एक पुलिसकर्मी की मौत हो गई. मामले को बढ़ता देख प्रशासन ने जयपुर के चार थानों में कर्फ्यू लगा दिया गया है. साथ ही इंटरनेट सेवा भी बंद कर दी गई है. रामगंज, गलता गेट, बड़ी चौपड़, मानक चौक और सुभाष चौक पुलिस थाना क्षेत्र में कर्फ्यू लगाया गया है.

पुलिसकर्मी के द्वारा युवक के साथ मारपीट से नाराज लोग बड़ी संख्या में रामगंज थाने पर इकट्ठा हो गए. थाने के बाहर आक्रोशितों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. नारेबाजी करने के दौरान ही भीड़ में से कुछ ने थाने पर पथराव किया और ट्रांसफॉर्मर में आग लगा दी. भीड़ ने थाने के बाहर खड़ी चार गाड़ियों को भी आग के हवाले कर दिया. साथ ही एक दर्जन पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट कर उन्हें घायल कर दिया.

पुलिस ने आंसू गैस छोड़े

जिसके बाद उपद्रवियों को नियंत्रित करने के लिए जिला प्रशासन ने तुरन्त विभिन्न थानों के 150 जवानों के मौके पर भेजा. साथ ही एसटीएफ और क्यूआरटी के जवानों को भी रामगंज में तैनात किया गया. मामला बिगड़ता देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज भी किया. पुलिस की लाठीचार्ज और हवाई फायरिंग में एक युवक की मौत हो गई. युवक चारदीवारी इलाके में पतंग वाले मोहल्ले का निवासी आदिल था.

ये है तनाव की वजह

मामले की शुरूआत देर रात को हुई जब साजिद नाम का युवक बाइक पर बिना हेलमेट अपने परिवार के साथ जा रहा था. अचानक एक पुलिस कांस्टेबल ने युवक पर बिना हैलमेट के होने के कारण डंडा मार दिया. जिसके बाद उसका और उसकी पत्नी का विवाद पुलिसकर्मी से हो गया.

बच्ची के हाथ टूटने की फैली अफवाह

विवाद के बाद आस-पास में यह अफवाह फैल गई कि पुलिसकर्मी के डंडे से एक बच्ची का हाथ टूट गया है. जिसके बाद थाने के आस पास हजारों की संख्या में लोग पहुंच गए. आक्रोशत लोग थाने के आसपास आगजनी करने लगे. इसके बाद भारी संख्या में पहुंचे पुलिस के जाब्ते ने मामले को संभाला. करीब 1 घण्टे के उपद्रव के बाद मामला शांत हुआ. (COURTSEY -HINDUSTAN, RAJASTAHN pATRIKA)