बाबा राम रहीम को भगाने की साजिश, हनीप्रीत के लिए जारी हुआ लुकआउट नोटिस

बाबा राम रहीम को भगाने की साजिश, हनीप्रीत के लिए जारी हुआ लुकआउट नोटिस

नई दिल्ली : हरियाणा पुलिस ने डेरा प्रमुख राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसा के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया है. हनीप्रीत पर यौन शोषण मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद राम रहीम को कोर्ट से भगाने की साजिश रचने का आरोप है.

25 अगस्त यानी शुक्रवार को डेरा प्रमुख राम रहीम को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने साध्वियों से यौन शोषण मामले में दोषी ठहराया था. सूत्रों की मानें तो दोषी ठहराए जाने के बाद राम रहीम को भगाने का प्लान तैयार किया गया था. हरियाणा पुलिस और सेना की मुस्तैदी से उनके प्लान पर पानी फिर गया.इससे पहले इस पर हरियाणा पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने मीडिया को एक खबर दी थी. उस अधिकारी ने बताया था कि गुरमीत राम रहीम ने भागने की पूरी प्लानिंग करली थी. अधिकारी ने दावा किया कि पुलिस उपायुक्त (अपराध) सुमित कुमार की अगुवाई में एक चौकस टीम ने गुरमीत के कमांडो जवानों की ओर से उसे भगाने की कोशिश नाकाम कर दी.




गुड़गांव में पत्रकारों से बातचीत में पुलिस महानिरीक्षक (आईजीपी) के के राव ने कहा कि जैसे ही गुरमीत को दोषी करार दिया गया, वैसे ही उसने सिरसा से लाया गया एक ‘लाल बैग’ मांगा. राव ने कहा, डेरा प्रमुख ने यह कहते हुए बैग मांगा कि उसमें उसके कपड़े रखे हुए हैं. दरअसल, यह उसकी ओर से अपने लोगों को किया गया एक इशारा था कि वे उसके समर्थकों में उसे दोषी ठहराए जाने की खबर फैला दें, ताकि वे उपद्रव पैदा कर सकें. उन्होंने कहा कि जब गाड़ी से बैग बाहर निकाला गया तो करीब दो-किलोमीटर दूर से आंसू गैस के गोले दागे जाने की आवाजें सुनाई देने लगीं.




आईजीपी ने दावा किया, तभी हमें बात समझ आ गई कि इस इशारे के पीछे कोई मतलब है. उन्होंने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का संदेह उस वक्त और गहरा गया जब गुरमीत और उसकी गोद ली गई बेटी पंचकूला अदालत परिसर के गलियारे में काफी लंबे समय तक खड़े रहे, जबकि उन्हें वहां खड़ा नहीं होना था.
बीते सोमवार इस मामले में सीबीआई जज जगदीप सिंह ने राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाई थी.

कहा जा रहा है कि इसके बाद से ही हनीप्रीत इंसा अंडरग्राउंड हो गई. हनीप्रीत के सुनारिया जेल परिसर से निकलने के बाद रोहतक के आर्य नगर में ही किसी डेरा प्रेमी संजय चावला के घर रुकने की बात भी सामने आई थी.
अगली सुबह वह परिवार भी घर से गायब मिला. आर्य नगर में इस रात संजय चावला के घर देर रात दो गाड़ियां आईं थीं. उसके बाद से हनीप्रीत का कुछ पता नहीं है. तभी से हरियाणा पुलिस भी हनीप्रीत की तलाश में जुटी है. हनीप्रीत कहां है, ये एक रहस्य बना हुआ है. फिलहाल हरियाणा पुलिस के साथ-साथ लोकल जांच एजेंसियां भी सरगर्मी से हनीप्रीत की तलाश कर रही हैं.