बंद होने वाला है ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’? धार्मिक कट्टरता की भेंट चढ़ेगा अच्छा शो

नई दिल्ली : जैसे शरीफ लोग कभी कभी मुसीबत में फंस जाते हैं वैसे तारक मेहता का उल्टा चश्मा के सिर पर मुसीबत आन पड़ी है. ये सीरियल अब बंद होने के कगार पर खड़ा है. तारक मेहता .. एक बेहद संयत शालीन और परिवार के साथ देखा जा सकने वाला सीरियल है लेकिन धार्मिक कट्टरता इसके आडे आ गई है. सिख समुदाय ने इसे बंद करने की मांग की है.

रिपोर्ट्स की मानें तो शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने ‘तारक मेहता’ पर ‘ईशनिंदक’ सीन दिखाने का आरोप लगाते हुए इस शो पर बैन लगाने की मांग की है . ये सीरियल बेहद लोकप्रिय है और टीआरपी की दौड़ में हमेशा टीआरपी में टॉप फाइव में रहता है.

एसजीपीसी प्रमुख कृपाल सिंह बादुंगर ने कहा कि शो ने सिखों के दसवें गुरु गोविंद सिंह के जीवित स्वरूप का चित्रण कर समुदाय को ठेस पहुंचाई है और ऐसा करना ‘‘सिख सिद्धांतों के खिलाफ’’ है.

बादुंगर ने कहा, ‘‘कोई भी अभिनेता या कोई भी चरित्र खुद की दसवें सिख गुरु गोविंद सिंह के साथ समानता नहीं कर सकता. यह अक्षम्य कृत्य है.’’

दर असल इस ऐपीसोड में महापुरुषों की महानता का जिक्र था और गलती से निर्देशक ने शिवाजी महाराज बगैरह महापुरुषो की तरह सोसायटी के एक बच्चे को गुरु गोविंद सिंह जी की तरह के कपड़े पहना दिए. सिख धर्म में इसकी सख्त मनाही है. इसके कारण सिख अब नाराज़ हैं और सीरियल पर रोक की मांग कर रहे हैं.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें