मोदी सरकार ने लगाई ‘पेड न्यूज़’ वाले अखबारों पर लगाम, टाइम्स ऑफ इंडिया और जागरण के विज्ञापन रुके

नई दिल्ली :  केन्द्र सरकार ने ‘पेड न्‍यूज’ और ‘दुर्व्‍यवहार’  के मामले में शामिल अखबारों की सूची जारी की है. साथ ही कई अखबारों के विज्ञापन भी बंद किए गए हैं. इनमें दैनिक जागरण और टाइम्स ऑफ इंडिया जैसे नाम भी शामिल हैं.

‘प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया’ (PCI) की सिफारिशों पर कार्रवाई करते हुए ‘विज्ञापन और दृश्य प्रचार निदेशालय’ ( डीएवीपी) ने इन अखबारों (पब्लिकेशंस) को अपने पैनल से दो महीने के लिए निलंबित कर दिया है. इस सूची में दैनिक जागरण, द टाइम्स ऑफ इंडिया जैसे बड़े अखबारों के भी चुनिंदा संस्करण शामिल है.

इसके अलावा यह भी निर्णय लिया गया है कि जिन पब्लिकेशंस के खिलाफ कार्रवाई की संस्‍तुति मिली है और वे ‘डीएवीपी’ के पैनल में शामिल नहीं हैं, वे भी दो महीने के लिए इससे बाहर रहेंगे. गौरतलब है कि सूचना-प्रसारण मंत्रालय की नोडल एजेंसी ‘डीएवीपी’ सरकारी विज्ञापनों को जारी करती है.

जिन पब्लिकेशंस के खिलाफ कार्रवाई की गई है, उनकी लिस्‍ट आप यहां देख सकते हैं ….

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें