फिर सही साबित हुई नॉकिंग न्यूज़ की खबर, शरद ने चुना सैक्युलर मोर्चे का साथ

फिर सही साबित हुई नॉकिंग न्यूज़ की खबर, शरद ने चुना सैक्युलर मोर्चे का साथ




नई दिल्ली : जिस दिन नितीश कुमार ने इस्तीफा दिया उसी दिन से नॉकिंग न्यूज़ लगातार आपको बिहार और जेडीयू से जुड़ीं खबरें दे रहा है.हमारी हर खबर सही साबित हुई है और हमने सबसे पहले नितीश के कदम से लेकर शरद यादव के रुख पर खबरें आपतक पहुंचाई हैं. अब हमारी एक और खबर सही साबित होने जा रही है.
शरद यादव नयी पार्टी बनाने और धर्मनिरपेक्ष विपक्ष के साथ एक जुटता दिखाने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ गए हैं. 19 अगस्त को पटना में पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक है. इससे ठीक दो दिन पहले 17 अगस्त को शरद यादव दिल्ली से संकेत दे रहे होंगे कि उन्हें बीजेपी का सात मंजूर नहीं. शरद दिल्ली में सांप्रदायिकता पर सेमिनार कर रहे हैं इसमें न तो जेडीयू से किसी को बुलाया गया है न बीजेपी से .जबकि इसके उलट कांग्रेस, एनसीपी, वाम दलों के साथ राजद को पूरे सम्मान के साथ न्योता भेजा गया है.




इसके अलावा जैसी हमने आपको खबर दी थी , जदयू के भाजपा से गठबंधन के खिलाफ कई पार्टी नेताओं ने नीतीश कुमार को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी जाहिर की है. तमिलनाडु, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, गुजरात तथा राजस्थारन के पार्टी नेताओं ने भाजपा से गठबंधन के फैसले में पुनर्विचार करने और कदम वापस लेने की मांग की है.




उधर नितीश कुमार खेमे के केसी त्यागी ने शरद यादव पर खुला हमला किया है. उन्होंने कहा है कि शरद को नीतीश कुमार और लालू यादव में से किसी एक को चुनना होगा. उन्होंने उम्मीद जताई कि शरद नीतीश को ही चुनेंगे. आशा है कि वह जल्द निर्णय ले लेंगे. उन्होंने ही सबसे पहले लालू के भ्रष्टाचार का विरोध किया था. वही प्रदेश के जदयू पार्टी मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि शरद यादव हमारे वरिष्ठ नेता हैं. पार्टी के प्रवक्ता डॉ. अजय आलोक ने कहा कि मौसम बदलता रहता है. सावन के बाद भादो, बाद में शरद ऋतु आती है. वैसे ही शरद भी वापस आ जाएंगे.