जब सड़क किनारे नोटों के ढेर को बटोरने में जुट गए लोग, फिर क्या हुआ ?

जब सड़क किनारे नोटों के ढेर को बटोरने में जुट गए लोग, फिर क्या हुआ ?




नई दिल्ली : महाराष्ट्र के औरंगाबाद में सोमवार की सुबह अचानक अफरा-तफरी मच गई. पूरा शहर एमएआईडीसी के रोड की तरफ भागने लगा. सड़क पर जाम लग गया और लोग अपनी गाड़ियां छोड़ सड़क पर एकाएक उतरने लगे. सबके हाथ में या तो थैला था या फिर पॉलीथीन बैग. पुलिस को भी इस बात की खबर लगी कि एमआईडीसी की एक सड़क पर भीड़ इकट्ठा हो रही है. पुलिस भी दल-बल के साथ उस जगह के लिए रवाना हो गई.

दरअसल सुबह-सुबह औरंगाबाद के एमआईडीसी इलाके में 500 और 2000 के नकली नोटों के रोड पर फेंके जाने की खबर पूरे शहर में आग की तरह फैल गई. नोट बड़ी संख्या में फेंके गए थे और रोड तक नोट उड़कर आ गए थे जिसके कारण सुबह-सुबह लोग अपने ऑफिस जाने के बजाय सड़क की तरफ भागने लगे.




ज्यादा से ज्यादा पैसे अपने घर लेकर आने के लिए लोगों ने अपने हाथों में थैला भी ले लिया. बिना देरी किए सभी लोग उस स्पॉट पर पहुंचे जहां पर नोट फेंके जाने की सूचना मिली थी.

लोग जब उस जगह पर पहुंचे तो उनके मन में सुकून दिखा क्योंकि उस जगह नोट बिखरे पड़े थे. लेकिन उन्हें निराशा तब हुई जब लोगों ने नोट को करीब से देखा. सभी के सभी नोट नकली थे और किसी ने रात में नकली नोट फेंक कर लोगों की फिरकी ली थी.




पुलिस को भी भनक लग गई औऱ पुलिस भी मौका-ए-वारदात पर पहुंची तो सभी नोट नकली मिले. तब तक भीड़ धीरे-धीरे वहां से मुंह छिपाए निकलने लगी थी. पुलिस मामला दर्ज कर अब नकली नोट फेंके जाने की तहकीकात कर रही है कि आखिर इतनी बड़ी संख्या में यहां नकली नोट किसने फेंके और ये नोट आखिर कहां बने.