चीनी का दावा- डोकलाम पर लोगों को मूर्ख बना रही है मोदी सरकार, सिर्फ भारतीय सेना पीछे हटी

चीनी का दावा- डोकलाम पर लोगों को मूर्ख बना रही है मोदी सरकार, सिर्फ भारतीय सेना पीछे हटी




नई दिल्ली : एक तरफ भारत सरकार डोकलाम पर अपनी पीठ थपथपा रही है. कांग्रेस पार्टी भी बधाई पर बधाई दे रही है लेकिन चीन का नज़रिया कुछ और है. चीन ने भारत के पीछे हटने पर खुशी जताई है चीन का कहना है कि भारत  भारतीय सैनिकों के डोकलाम से पीछे हटने पर चीन ने खुशी जाहिर की और कहा हमें भारत से यही उम्मीद थी. चीन ने कहा है कि सीमा से सिर्फ भारतीय सेना हटी है भारत सरकार अपने लोगों को खुश करने के लिये झूठ बोल रही है कि चीनी सेना हट गई है. चीन के विदेश मंत्रालय ने यह भी कहा है कि उनके सैनिक इस सीमा क्षेत्र में पट्रोलिंग जारी रखेंगे. भारतीय विदेश मंत्रालय के बयान में भी इसकी पुष्टि की गई है कि चीनी गश्त जारी रहेगी.




चीन की तरफ से कहा गया है कि वह डोकलाम से भारतीय सेना के हटने से खुश है. चीन की आधिकारिक न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, ‘चीन ने सीमा से भारतीय सेना के हटने की पुष्टि की है.’ चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के मुखपत्र पीपल्स डेली के मुताबिक चीन और भारत 2 महीने से ज्यादा समय से चल रहे डोंगलांग विवाद को सुलझाने पर सहमत हो गए हैं.




पीपल्स डेली के मुताबिक, ‘चीन ने पुष्टि की है कि भारतीय सेना पीछे हट गई है.’ चीन का यह बयान भरत की डोकलाम विवाद खत्म होने की घोषणा करने के घंटे भर बाद ही आ गया. भारतीय विदेश मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया था कि दोनों देश अपनी सेनाएं डोकलाम से पीछे हटा रहे हैं.

चीनी जवानों द्वारा वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने की कोशिश पर भारतीय व चीनी सैनिकों के बीच 15 अगस्त को झड़प हुई थी. यह अपनी तरह की पहली झड़प थी. इसमें चीनी सैनिकों ने पत्थरबाजी की और भारतीय जवानों ने भी इसका जवाब दिया. इसमें दोनों तरफ के जवान घायल हुए.

ये दूसरे देश का पक्ष है. सच का फैसला