अमित शाह को पहली बार करारी मात, चारों खाने चित हुआ बीजेपी चाणक्य

अमित शाह को पहली बार करारी मात, चारों खाने चित हुआ बीजेपी चाणक्य




नई दिल्ली : ये पहला मौका है जब अमित शाह को मात मिली है . बीजेपी का चाणक्य फेल हुआ है और कांग्रेस पार्टी उसे मात देने में कामयाब हुई है. मामला है गुजरात राज्यसभा चुनाव 2017 का. मंगलवार की रात को नाटकीय ढंग से घटनाक्रम बदले और तीसरी सीट पर सारी जोड़तोड़ के बावजूद बीजेपी कांग्रेस के अहमद पटेल को हटाने में नाकाम रही.




तीन राज्यसभा सीटों में से दो पर भाजपा के अध्यक्ष अमित शाह और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी की जीत हुई. सस्पेंस इतना तगड़ा था कि आखिर तक किसी को नहीं पता था कि तीसरी सीट जिसपर अहमद पटेल और बीजेपी की तरफ से बलवंत राजपूत आमने-सामने थे उसपर कौन जीतेगा. सारा विवाद दो कांग्रेसी विधायकों के वोट को लेकर खड़ा हुआ. दरअसल दोनों ने अपना वोट डालने के बाद यह दिखा दिया था कि उन्होंने किसको वोट दिया. इसपर कांग्रेस ने हंगामा कर दिया.
कांग्रेस का कहना था कि दोनों ने वोट की गोपनीयता का उल्लंघन किया है इसके चलते दोनों का वोट कैंसल होना चाहिए. इस चीज के लिए कांग्रेस चुनाव आयोग पहुंच गई. इसी बीच वोटों की गिनती रुकवा दी गई. फिर आधी रात तक दोनों ही दलों के बड़े-बड़े नेता चुनाव आयोग के दफ्तर पहुंचने लगे. दोनों की तरफ से अपनी-अपनी दलीलें दी जा रही थी.




लेकिन अंत में चुनाव आयोग ने दोनों (भोलाभाई गोहिल और राघवजी भाई पटेल) के वोट को खारिज कर दिया. आयोग ने निर्वाचन अधिकारी से कांग्रेस विधायक भोलाभाई गोहिल और राघवजी भाई पटेल के मतपत्रों को अलग करके मतगणना करने को कहा. आयोग के आदेश के अनुसार मतदान प्रक्रिया का वीडियो फुटेज देखने के बाद पता चला कि दोनों विधायकों ने मतपत्रों की गोपनीयता का उल्लंघन किया था. वोटों की गिनती रात को एक बजे शुरू हुई और लगभग दो बजे नतीजे आए. जीत के बाद अहमद पटेल ने ट्वीट कर ‘सत्यमेव जयते’ लिखा. उन्होंने कांग्रेस का साथ देने वाले सभी लोगों का शुक्रिया भी किया.
यह सीट अमित शाह और अहमद पटेल के लिए नाक का सवाल बन गई थी. दोनों को ही अपनी-अपनी पार्टी का ‘चाणक्य’ कहा जाता है. लेकिन अंत में बीजेपी दो सीट जीतकर भी खुश नहीं थी और चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ कोर्ट जाने की बात कह रही थी.