पुलिस का दावा चुनैद की हत्या बीफ के लिए नहीं सीट के लिए, लेकिन सवालों के घेरे में पुलिस

नई दिल्ली: फरीदाबाद के जुनैद की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपियों के जो बयान जारी किए हैं वो आने वाले दिनों में हरियाणा की बीजेपी सरकार को राजनीतिक हमलों में घेर सकते हैं. पुलिस के मुताबिक मथुरा जाने वाली ट्रेन में 17 साल के जुनैद खान की पीट-पीटकर की गई हत्या का मुख्य आरोपी दिल्ली में सुरक्षा था. पुलिस का दावा है कि उसने जुनैद की चाकू से गोद-गोद कर हत्या करने की बात कबूल कर ली है. इस शख्स को 22 जून से ही फरार बताया जा रहा था. कल महाराष्ट्र के धुले जिले से उसकी गिरफ्तारी दिखाई गई.

पुलिस का दावा है कि अबतक की पूछताछ के हिसाब से जुनैद की हत्या बीफ के कारण नहीं हुई थी. पुलिस के मुताबिक ‘‘मुख्य आरोपी से अब तक की पूछताछ के दौरान ऐसी कोई बात सामने नहीं आई है.’’ बल्कि मामला सीट को लेकर हुए आपसी झगड़े का बताया जा रहा है.

आरोपी के इस बयान को एक तबका राजनीतिक साजिश के तौर पर देख रहा है. इस तबके का मानना है कि हरियाणा सरकार को बदनामी से बचाने के लिए ये बयान जारी किया गया. सिक्योरिटी गार्ड को हत्या का जोशी बताने के पीछे भी पुलिस पर ही शक किया जा रहा है. गौर करने वाली बात गिरफ्तारी की जगह है. दिल्ली का गार्ड महाराष्ट्र के धुले क्या करने गया था और इतने दिनों से उसे फरार क्यों दिखाया जा रहा था ये दोनों सवाल भी बड़े हैं. य़े भी बड़ा सवाल है कि सिक्योरिटी गार्ड का काम करने वाला शख्स ट्रेन में चाकू लेकर सफर क्यों कर रहा था. पुलिस ने जिस शख्स को पेश किया है उसका हुलिया भी सिक्योरिटी गार्ड वाला नहीं दिख रहा. उसने महंगे कपड़े काफी सलीके से पहने हैं.

इस बीच मीडिया पीड़ित और आरोपी के परिवारों से बयान लेने की कोशिश भी कर रहा है. लेकिन समस्या पुलिस ने आरोपी की पहचान छिपाकर रखी है ताकि मीडिया उनसे बात न कर सके. हालांकि पुलिस का कहना है कि जांच प्रक्रिया पूरी होने तक पहचान छिपाई गई है.

उन्होंने कहा कि आरोपी दिल्ली के शिवाजी ब्रिज स्टेशन से ट्रेन पर सवार हुआ था. पुलिस के मुताबिक, ‘‘उससे अब तक की पूछताछ में मुख्य आरोपी ने जुनैद की चाकू गोदकर हत्या करने और उसके भाइयों पर हमले की बात कबूली है.’’
मुख्य आरोपी को यहां एक अदालत में पेश किया जाएगा और उसकी पुलिस रिमांड मांगी जाएगी. गोयल ने कहा, ‘‘अदालत में शिनाख्त परेड के लिए उसकी सहमति मांगी जाएगी.’’ उन्होंने कहा कि वारदात में इस्तेमाल किया गया हथियार अब तक बरामद नहीं किया गया है. आरोपी ने बताया है कि उसने जिस चाकू से जुनैद पर हमला किया वह उसके पास है. गोयल ने कहा, ‘‘यह खुली जांच है और आरोपी से गहन पूछताछ के बाद ही घटना की कड़ियां सामने आएंगी.’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘जांच की समयसीमा तय नहीं की जा सकती. हम जितने तथ्य साझा कर सकते थे, उतने साझा किए गए हैं. लेकिन जांच के हित में अभी और तथ्यों का खुलासा करना उचित नहीं होगा. तथ्यों के स्पष्ट होते जाने के साथ ही हम उन्हें साझा करेंगे.’’
उन्होंने कहा कि पीड़त और उसके भाइयों की आरोपियों से लड़ाई दिल्ली के ओखला रेलवे स्टेशन पर शुरू हुई जबकि चाकू मारने की घटना बल्लभगढ़ की तरफ जाते वक्त हुई. पहले पांच आरोपियों की गिरफ्तारी से सामने आए तथ्यों के बारे में पूछने पर गोयल ने कहा कि जांच चल रही है.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें