यूपी विधानसभा में मिला पावडर था प्लास्टिक एक्सप्लोसिव, अब तलाशी के बाद ही घुस सकेंगे मेंबर

यूपी विधानसभा में मिला पावडर था प्लास्टिक एक्सप्लोसिव, अब तलाशी के बाद ही घुस सकेंगे मेंबर




नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश विधानसभा में विपक्ष के नेता की सीट के पास मिला विस्फोटक पीईटीएन था. शुरुआती जांच में इसकी पुष्टि हो गई है. PETN विस्फोटक काफी खतरनाक विस्फोटकों में से एक है, ये विस्फोटक रंगहीन, गंधहीन होता है. इसे मेटल डिटेक्टर के जरिए भी ढूंढ पाना काफी मुश्किल है, लेकिन डॉग स्कवॉयड ने इसे ढूंढ निकाला. सीएम योगी ने इसे विधानसभा की सुरक्षा में एक बड़ी चूक बताया जा रहा है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस मुद्दे पर अहम बैठक बुलाई है, बैठक में सुरक्षा को लेकर चर्चा होगी. आपको बता दें कि अभी यूपी विधानसभा में बजट सत्र चल रहा है.

यह विस्फोटक 50 से 60 ग्राम की मात्रा में मिला था. संदिग्ध पाउडर के मिलते इसकी सूचना सबसे पहले सीएम को दी गई लेकिन कोई हंगामा ना मुझे इसलिए सदन के खत्म होने का इंतजार किया गया. मामले के बाद गुपचुप तरीके से जांच में बुलाई गई, फॉरेंसिक एक्सपर्ट बुलाए गए और उसे जांच के लिए भेजा गया. विधानसभा सुरक्षा के मुताबिक विधानसभा खत्म होने के बाद देर रात को बम निरोधक दस्ते समेत कई जांच टीमों ने पूरे विधानसभा को खंगाला था. जब विधानसभा के तमाम अधिकारी और कर्मचारी घर चले गए तब इस विस्फोटक पाउडर को गुपचुप तरीके से फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया.

समाजवादी पार्टी के नेता घनश्याम तिवारी ने कहा कि इस तरह की चूक काफी चिंताजनक है. यूपी विधानसभा प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण जगहों में से एक है. उन्होंने कहा कि सरकार को प्रदेश की सुरक्षा पुख्ता करनी चाहिए. वहीं कांग्रेस नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने इस मुद्दे पर कहा कि लखनऊ शहर में डकैती हो रही है, पूरे प्रदेश में क्राइम में इजाफा हो रहा है. इस बीच विधानसभा की सुरक्षा में इस प्रकार की चूक काफी चिंताजनक है.

उन्होंने कहा कि सरकार सुरक्षा की बात करती है लेकिन बीजेपी की सरकार ने प्रदेश और देश का बुरा हाल कर दिया है. अखिलेश प्रताप सिंह ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि सुरक्षा में इस तरह की चूक ये दिखाती है कि देश बदल रहा है.