पार्षद से बदसलूकी लेकिन पुलिस दर्ज नहीं कर रही केस, “क्योंकि मामला AAP का है”

पार्षद से बदसलूकी लेकिन पुलिस दर्ज नहीं कर रही केस, “क्योंकि मामला AAP का है”




नई दिल्ली : इसे कहते हैं माथा देखकर तिलक करना. पुलिस कहीं की भी हो इस विधा में परफैक्ट होती है और जब दिल्ली दिल्ली पुलिसहो तो बात ही कुछ और है. दिल्ली में एक काउंसलर छोटे मोटे नहीं बद सलूकी और छेड़छाड़ के मामले में एक के बाद दूसरे थाने का चक्कर लगा रही है. लेकिन फिर भी एक्शन नहीं हो रहा. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया है कि शिकायत सिर्फ इसिलए दर्ज नहीं हो रही क्योंकि काउंसलर आम आदमी पार्टी की है.

पार्टी ने दलील दी है कि दिल्ली पुलिसआप विधायकों के खिलाफ बिना पड़ताल किये तत्काल मामले दर्ज कर लेती है लेकिन आप काउंसलर की शिकायत तक दर्ज करने का दिल्ली पुलिसके पास वक्त नहीं है. आप की ओर से आज संगम विहार के तिगड़ी वार्ड से काउंसलर ज्योति कोहली की दिल्ली पुलिसमें 14 जुलाई को भेजी गयी शिकायत सार्वजनिक करते हुये दिल्ली पुलिसपर पक्षपातपूर्ण रवैया बरतने का आरोप लगाया गया.

आप की दिल्ली इकाई की मीडिया प्रभारी वंदना सिंह ने कहा कि दिल्ली पुलिसने कल देवली से आप विधायक प्रकाश जारवाल के खिलाफ जिस घटना के हवाले से मामला दर्ज किया है, दरअसल उस घटना के दौरान विधायक के साथ मौजूद काउंसलर कोहली के साथ कुछ अज्ञात लोगों ने बदसलूकी की थी. इसकी कोहली ने दिल्ली पुलिसमें शिकायत भी दी लेकिन मामला दर्ज करना तो दूर उनकी शिकायत भी स्वीकार नहीं की गयी.

सिंह का आरोप है कि कोहली की शिकायत में जिस महिला और उसके बेटे का जिक्र किया गया है वह भाजपा कार्यकर्ता हैं. शिकायत में कहा गया है कि तिगड़ी स्थित काउंसलर कार्यालय में उक्त महिला ने अपने बेटे और पांच छह अन्य लोगों के साथ आकर विधायक और उसके साथ अभद्रता करते हुये धमकी भी दी. कोहली का आरोप है कि दिल्ली पुलिसने अब तक इस मामले में शिकायत दर्ज नहीं की है जबकि जारवाल के ही खिलाफ कल छेड़छाड़ का मामला दर्ज कर लिया.