जब मुसाफिर उड़ते विमान का गेट खोलने लगा और बोतल मारने पर भी काबू नहीं आया

जब मुसाफिर उड़ते विमान का गेट खोलने लगा और बोतल मारने पर भी काबू नहीं आया

नई दिल्ली : सीएटल से बीजिंग की उड़ान के दौरान जो वाक्या हुआ वो कभी न हो. विमान आसमान में था और गुस्से से पागल एक यात्री ने  प्लेन का गेट खोलने की कोशिश की. उसे रोकने के लिए फ्लाइट अटेंडेंट ने उसके सिर पर शराब की बोतल दे मारी. लेकिन फिर भी वो काबू नहीं आया. आखिर विमान की इमरजेंसी लैंडिग हुई और यात्री को गिरफ्तार कर लिया गया. 23 वर्षीय आरोपी जोसेफ डेनियल हुडेक को गुरुवार रात गिरफ्तार किया गया. पुलिस के मुताबिक, बोइंग 767 में सवार हुडेक ने उड़ान से पहले फ्लाइट अटेंडेंट से बीयर लाने के लिए कहा लेकिन नशा न होने पर उसने और ड्रिंक्स की मांग नहीं की. जब नहीं मिली तो बवाल शुरू किया.

करीब एक घंटे बाद जब प्लेन वैंकुवर द्वीप के पश्चिम में प्रशांत महासागर के ऊपर था, तब हुडेक ने यात्रियों से झगड़ने के बाद प्लेन का गेट खोलने की कोशिश की. किसी तरह फ्लाइट अटेंडेंट ने यात्रियों की मदद से हुडेक को पकड़ लिया. हुडेक ने अटेंडेंट के साथ-साथ एक यात्री के साथ भी मारपीट की.

इसके बाद हुडेक को काबू में करने के लिए फ्लाइट अटेंडेंट ने उसके सिर पर शराब की बोतल दे मारी. शराब से भरी बोतल के सिर पर टूटने का भी हुडेक पर कोई असर नहीं हुआ. इसके उलट वह चिल्लाने लगा. आनन-फानन में प्लेन की इमरजेंसी लैडिंग करवाई गई.

एयरपोर्ट पुलिस ने हुडेक को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने बताया कि जोसेफ के कारण प्लेन को सीएटल-टैकोमा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर लौटना पड़ा. जोसेफ पर फ्लाइट अटेंडेंट के साथ झगड़ने का आरोप है. इसके लिए अधिकतम 20 साल तक की जेल और ढाई लाख डॉलर के जुर्माने का प्रावधान है.