आधार नहीं है, बैंक चले जाइए, टैंशन कैसा, अब वहीं होगा सारा काम

आधार नहीं है, बैंक चले जाइए, टैंशन कैसा, अब वहीं होगा सारा काम




नई दिल्लीः  अब आपको आधार कार्ड बनाने के लिए आधार केन्द्र जाने की ज़रूरत नहीं है. आपके नज़दीकी बैंक जाइए और आधार कार्ड बनवा लीजिए. हुआ यू कि सरकार आधार को बैंक खाते से लिंक करने पर बड़ा ज़ोर दे रही थी. लेकिन जब लोग लिंक करने के लिए जाते थे तो कभी नाम की स्पैलिंग मैंच नही करती थी तो कभी सरनेम नहीं लिखा होता था या कभी कुछ और . इस हालत में आपको आधार सेंटर भागना होता था. अब सरकार ने आधार में बदलाव की व्यवस्था बैंक में ही करने का फैसला किया है.

सरकारी बैंकों के साथ ही प्राइवेट बैंकों में भी यह सुविधा उपलब्ध होगी. ये बैंक अपने ग्राहकों को ही आधार संबंधी सेवाएं प्रदान करेंगे. सरकार ने बैंक खाते से आधार लिंक करने के लिए 31 दिसंबर 2018 तक का वक्त दिया है इसके बाद जिन खातों से आधार लिंक नहीं है, वे ब्लॉक कर दिए जाएंगे और आधार कार्ड लिंक होने के बाद ही एक्टिव हो सकेंगे.

वित्त मंत्रालय ने 1 जून को नोटिफिकेशन जारी किया था कि सभी बैंख खातों से आधार नंबर लिंक होना जरूरी है. यूनिक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के सीईओ अजय भूषण पांडेय ने कहा कि अधिकांश बैंकों ने आधार से खाते को लिंक करने की ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराई है, लेकिन बड़ी संख्या में लोग ऐसे भी हैं, जिनके आधार अपडेट नहीं हैं. किसी को पता बदलवाना है तो किसी को फोटो अपडेट करवाना है. इसे देखते हुए नियम बनाया जा रहा है कि सभी बैंकों को अपने परिसर में आधार कार्ड बनवाने या अपडेट करवाने की सुविधा देना होगी.

यदि किसी खाताधारक के पास आधार है, लेकिन उसकी डिटेल्स बैंक की डिटेल्स के मेल नहीं खा रही है, तो भी बैंक को ही आधार अपडेट करना होगा. अभी तक, केवल सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक यूआईडीएआई में रजिस्टर करा सकते थे. यह बैंकों पर निर्भर करता था कि वह इस सुविधा को चाहते हैं या नहीं लेकिन यू.आई.डी.ए.आई. ने अब आधार (नामांकन और अपडेट) नियमों में संशोधन किया है ताकि सभी बैंक यू.आई.डी.ए.आई. पंजीयक बन सकें ताकि आधार में संशोधन आदि के लिए ग्राहकों को भटकना न पड़े.