यूपी में योगी का हाल केजरीवाल से भी बुरा, पसंद का पीएस रखने की भी इजाजत नहीं ?

नई दिल्ली:  धूम धड़ाके के बाद यूपी का लीएम बनना उनके लिए भारी पड़ा है .  मोदी के आदेशों की धज्जियां उड़ाने के बाद अब रोज़ रोज़ उन्हें वैसे ही नीचा दिखाया जा रहा है जैसे दिल्ली में केजरीवाल को दिखाया गया. योगी की गलती इतनी है कि उन्होंने यूपी में जबरदस्त शुरुआत की इस वजह से वो चैनल्स पर छा गए और लोग योगी की तुलना मोदी से करने लेग. ताज़ा मामला है योगी को उनके अपने पीएस चुनने की इजजात भी नहीं मिलने का.

मार्च महीने में योगी आदित्यनाथ की ओर से मीडिया को बताया गया कि आईएएस अफसर अवनीश अवस्थी योगी के प्रधान सचिव (Principal Secretary) होंगे। अवनीश अवस्थी गोरखपुर जिले के डीएम के रूप में तैनात रह चुके हैं। इस योगी गोरखपुर के सांसद थे। लेकिन एलान के बावजूद योगी को अपनी पसंद का प्रिंसीपल सेक्रेटरी नहीं मिला. बाद में जब एलान हुआ तो. शशि प्रकाश गोयल को योगी का पीएस नियुक्त कर दिया गया. ।

अगले महीने मीडिया को जानकारी दी गई कि आईआईटी से ग्रेजुएट अवस्थी जल्द ही योगी आदित्यनाथ के प्रधान सचिव का पद संभाल लेंगे। कहा गया है कि केंद्र सरकार की ओर से कार्य-मुक्त किए जाने के बाद अवस्थी प्रधान सचिव का पद संभालेंगे। वर्तमान में वह सामाजिक न्याय विभाग में ज्वाइंट सेक्रेटरी के पद पर तैनात हैं।

हालांकि 19 मई को यूपी के आईएएस अफसर शशि प्रकाश गोयल को योगी आदित्यनाथ का प्रधान सचिव बना दिया गया। साल 2013 से केंद्र सरकार के सामाजिक न्याय मंत्रालय में बतौर जॉइंट सेक्रेटरी के पद पर हैं। बताया जा रहा था कि सीएम योगी आदित्यनाथ ने केंद्र से यूपी कैडर के आईएएस ऑफिसर अवनीश अवस्थी को अपने प्रमुख सचिव पद पर तैनाती के लिए केंद्र सरकार से मांग की थी।

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें