किसानों से मिलने बाइक से पहुंचे राहुल गांधी, प्रशासन ने रोकने के लिए लगाई पूरी ताकत

नई दिल्ली: मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में 5 किसानों की मौत के बाद से ही हिंसा और तनाव की चपेट में है. इस इलाके के हालात पूरी तरह सरकार के काबू से बाहर निकल चुके हैं. इस बीच कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पुलिस गोलीबारी में मारे गए किसानों के परिवारों से मिलने मंदसौर के लिए रवाना हो चुके हैं. प्रशासन उन्हें रोकने की कोशिश कर रहा है इसलिए राहुल गांधी दुपहिया से पीड़ितों से मिलने जा रहे हैं. बता दें कि मंदसौर प्रशासन ने राहुल गांधी के विमान को वहां लैंड करने की इजाजत नहीं दी है. ऐसे में वह पहले उदयपुर एयरपोर्ट पहुंचे और फिर वहां से सड़क के रास्ते मोटरसाइकिल से मध्य प्रदेश जा रहे हैं. उधर नीमच के पुलिस अधीक्षक (एसपी) ने कहा है कि उन्हें हिंसा प्रभावित जिले में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा. एसपी ने कहा कि अगर कांग्रेस नेता ने जिले में घुसने का प्रयास किया तो उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा.

उदयपुर के रास्ते मध्य प्रदेश जाएंगे राहुल

इससे पहले खबर आई थी कि कांग्रेस उपाध्यक्ष बुधवार को ही पीड़ित परिवारों से मिलने मंदसौर जाने वाले थे, लेकिन प्रशासन ने उनके हेलीकॉप्टर को लैंडिंग की इजाजत देने से इनकार कर दिया था. राहुल को अब भी प्रशासन ने मंदसौर में प्रवेश की इजाजत नहीं दी है, हालांकि इसके बावजूद राहुल वहां जाकर पीड़ित किसान परिवारों से मिलेंगे. इस दौरान उनके साथ कांग्रेस सांसद कमलनाथ और मोहन प्रकाश के अलावा जेडीयू अध्यक्ष शरद यादव भी होंगे.

 

मंदसौर में हिंसा जारी

राज्य में गुस्साएं प्रदर्शनकारियों ने मंदसौर, देवास, नीमच, धार और इंदौर सहित कई हिस्सों में लूटपाट, आगजनी, तोड़फोड़ और पथराव किया. गुरुवार को भी वहां हिंसा जारी है, जहां प्रदर्शनकारियों ने मंदसौर में एक टोल प्लाज़ा में तोड़ की और वहां रखे 8-10 रुपये लूट लिए. इस बीच हालात काबू में ना होता देख मंदसौर के एसपी और कलक्टर का ट्रांसफर कर दिया गया है.

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मंदसौर के कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह का तबादला करके उन्हें उपसचिव मंत्रालय नियुक्त किया गया है. सिंह के स्थान पर ओपी श्रीवास्तव को कलेक्टर नियुक्त किया गया है. सूत्रों ने साथ ही बताया कि सरकार ने मंदसौर के पुलिस अधीक्षक ओपी त्रिपाठी का भी तबादला कर दिया है और उनके स्थान पर मनोज कुमार सिंह की नियुक्ति की गई है. वहीं पूर्व एसपी ओपी त्रिपाठी ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि विभिन्न जगहों में उपद्रव में शामिल 62 किसानों को गिरफ्तार किया गया है और हालात नियंत्रण में हैं.

 

बीजेपी और कांग्रेस में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू

राहुल गांधी की इस यात्रा को लेकर बीजेपी और कांग्रेस में आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी शुरू हो गया है. एक तरफ बीजेपी राहुल को ‘ट्रैजेडी ट्रैव्लर’ करार देते हुए कांग्रेस पर हिंसा भड़काने का आरोप लगाया, वहीं कांग्रेस ने 2014 के लोकसभा चुनावों के दौरान बीजेपी के वादों की याद दिलाते हुए आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी सरकार को किसानों की चिंता ही नहीं.

ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, ‘मध्य प्रदेश के किसान शांतिप्रिय हैं. वे किसी तरह की हिंसक गतिविधि में शामिल नहीं होते. पूरी घटना के पीछे साजिश है.’ उन्होंने कहा, ‘इस घटना के पीछे वे लोग हैं, जो राज्य में शांति और समृद्धि नहीं चाहते हैं और यह नहीं देख सकते कि राज्य की बीजेपी सरकार सुचार रूप से काम कर रही है.’

इस बीच राज्य के माल्वा इलाके में तीसरे दिन भी हिंसा का दौर जारी है, जिसके बाद जिले के कलेक्टर और एसपी का तबादला कर दिया है. इस बीच किसानों पर गोली चलाए जाने के मामले में पिपलिया मंडी के इंस्पेक्टर अनिल सिंह ठाकुर को फील्ड ड्यूटी से हटा दिया गया है.

 

 

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें