पीएम मोदी थे इंदिरागांधी के परमाणु सलाहकार! समर्थकों में वायरल हो रह है ये तस्वीर

पीएम मोदी थे इंदिरागांधी के परमाणु सलाहकार! समर्थकों में वायरल हो रह है ये तस्वीर




नई दिल्ली : क्या किशोर नरेन्द्र मोदी ने कभी इंदिरा गांधी को सलाह दी थी?  क्या वो थे उनके ख़ासमख़ास ? कम से कम मोदी भक्तों में वायरल हो रही एक तस्वीर तो यही बयान कर रही है. इस तस्वीर में विख्यात वैज्ञानिक और पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के साथ नज़र आ रहे नरेंद्र मोदी वाली एक तस्वीर तेज़ी से वायरल हो रही है. लोग इसे ट्वीट कर रहे हैं, रीट्वीट कर रहे हैं और शेयर कर रहे हैं. ‘आज तक’ की टीम ने इस तस्वीर की पूरी पड़ताल की और फिर चौंकाने वाला सच सामने आया.

दरअसल वायरल तस्वीर में ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर में दिख रहा है कि वैज्ञानिक एपीजे अब्दुल कलाम इंदिरा गांधी को किसी स्पेस कार्यक्रम की जानकारी दे रहे हैं जिसे इंदिरा गांधी बड़ी तल्लीनता से समझ रही हैं, और उनके पास ही खड़े हैं नौजवान नरेंद्र मोदी. ट्वीट की जा रही तस्वीर में कहा जा रहा है कि नरेंद्र मोदी किशोरावस्था से ही इसरो कार्यक्रम में मदद किया करते थे.

सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को खूब तवज्जो दी जा रही है. तो क्या वाकई मोदी थे इंदिरा गांधी के करीबी? क्या इंदिरा, मोदी को शामिल करती थीं अंतरिक्ष प्रोग्राम में? ‘आज तक’ ने इस ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर की पूरी कुंडली तैयार करने के लिए वायरल टेस्ट किया.

ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीर में नरेंद्र मोदी नौजवान लग रहे हैं, यानी ये तो तय है कि तस्वीर काफी पुरानी है. जांच के दौरान 1980 की एक हू-ब-हू तस्वीर मिली जिसमें अब्दुल कलाम, इंदिरा गांधी के साथ नरेंद्र मोदी नहीं बल्कि मशहूर पद्म विभूषण सम्मानित स्पेस साइंटिस्ट सतीश धवन दिख रहे थे. वायरल टेस्ट में साफ हो गया कि इंदिरा गांधी-मोदी वाली तस्वीर के साथ छेड़छाड़ की गई.

इसी कड़ी में ‘आज तक’ चैनल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जीवन पर रिसर्च करने वाले और उनकी जीवनी लिखने वाले लेखक से मुलाक़ात की, और उनसे ये पूछा कि क्या नरेंद्र मोदी और इंदिरा गांधी में कभी मुलाक़ात हुई थी. उन्होंने साफ कर दिया कि इंदिरा गांधी और नरेंद्र मोदी की मुलाक़ात कभी नहीं हुई थी, लिहाज़ा ये वायरल तस्वीर किसी की शरारत है और हमारी पड़ताल में ये तस्वीर फेल हुई.