दिल्ली के त्रिलोकपुरी में दो गुटों के झगड़े के बाद तनाव, जानिए तांत्रिक के चक्कर में कैसे भड़के लोग

दिल्ली के त्रिलोकपुरी में दो गुटों के झगड़े के बाद तनाव, जानिए तांत्रिक के चक्कर में कैसे भड़के लोग

नई दिल्ली: त्रिलोकपुरी इलाके में शनिवार को दो परिवारों के बीच विवाद के बाद हिंसा हो गई, जिसके बाद पूरे इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है. दोनों परिवार अलग-अलग समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. हिंसा के बाद से पूरे इलाके में पुलिस बल तैनात किया गया है.

एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार एक महिला और उसके बेटे पर आरोप लगा है कि उन्होंने अन्य महिला को जबरन एक मृत जानवर का मांस खिलाने की कोशिश की. दोनों आरोपियों की पहचान रोजो और 23 वर्षीय विशाल के रूप में हुई है. पुलिस ने इस मामले में दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

पीड़िता के बयान के अनुसार पुलिस अधिकारी ने बताया कि खोडा कलोनी के रहने वाले रोजो और विशाल मांस का टुकड़ा और एक चाकू लेकर जबरदस्ती नजमा के घर में घुस गए. इससे पहले की नजमा कुछ समझ पाती उन लोगों ने उसके साथ बदतमीजी और अभद्र भाषा का प्रयोग करना शुरु कर दिया.

विशाल ने नजमा के पीछे से दोनों हाथ पकड़ लिए और उसकी मां रोजो जबरदस्ती मांस का टुकड़ा नजमा के मुंह में डालने की कोशिश करने लगी. अपने साथ यह बर्ताव होता देख नजमा चिल्लाने लगी, जिसके बाद पड़ोसी चिल्लाने की आवाज सुनकर उसके घर के बाहर आकर जमा हो गए.

घर के बाहर भीड़ इकट्ठा देख दोनों आरोपी मांस का टुकड़ा नजमा के घर में ही छोड़कर वहां से फरार हो गए. इसके बाद इस मामले की शिकायत मयूर विहार पुलिस थाने में दर्ज कराई गई. मौके पर पहुंची पुलिस ने मांस का टुकड़ा अपने कब्जे में लेकर जांच शुरु कर दी है.

वहीं इस मामले के सामने आने के बाद पूरे इलाके में तनाव का माहौल बना हुआ है. पुलिस जांच में सामने आया है कि दोनों आरोपी पहले नजमा के पड़ोस में रहा करते थे लेकिन एक छोटे से विवाद के बाद वे खोडा कलोनी में शिफ्ट हो गए थे. आरोपियों ने पुलिस को बताया कि उन्हें एक तांत्रिक ने सलाह दी थी कि अगर आप बुराइयों से बचना चाहते हैं तो नजमा को मांस खिलाना होगा. (courtsey-Jansatta)