नफरत की राजनीति ने ली एक और जान, इस हत्या में क्या नेताओं को सज़ा होगी?

नफरत की राजनीति ने ली एक और जान, इस हत्या में क्या नेताओं को सज़ा होगी?




नई दिल्ली: वोटों के लालच में राजनीति ने नफरत के जो बीज बोए थे उनके जहरीले फल अब आने शुरू हो गए है. देश नफरत की तरफ बढ़ रहा है .मथुरा जा रही एक ट्रेन में ऐसी ही नफरत ने एक युवक की जान ले ली. इसके साथ ही मृतक के तीन भाइयों पर भी हमला कर उन्हें गंभीर रूप से घायल कर दिया. यह घटना गुरुवार शाम की है. एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार इन चार लोगों पर बीफ खाने के शक में हमला किया गया था. चारों युवकों की पहचान जुनैद, हासिम, शाकिर मोहसिन और मोइन के रुप में हुई है.

इस मामले में हमलावर पकड़ लिए जाएंगे. उन्हें सज़ा भी होगी लेकिन ये लोग असल अपराधी नहीं बल्कि उस नफरत की राजनीति के शिकार हैं जो ऐसे ही नौजवानों के दिमाग में ज़हर भर रही है. क्या ऐसी राजनीति करने वालों को कोई सज़ा देगा.

हादसे के शिकार हुए. हरियाणा के बल्लभगढ़ में खांडावली गांव के रहने वाले ये चारों भाई दिल्ली के तगुलकाबाद में एक दुकान चलाते हैं. ईद के मौके पर चारों अपने परिवार के साथ इस त्यौहार को मनाने के लिए घर जा रहे थे. परिवार के साथ खुशी-खुशी ईद मनाने के लिए चारों ने काफी खरीददारी भी की थी.

मोहसिन द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार ट्रेन में सफर करते हुए कुछ यात्रियों ने उन्हें गाली देना शुरु कर दिया. यात्रियों को शक था कि चारों बीफ खा रहे हैं. पीड़ितों ने जब इसका विरोध किया तो कई यात्रियों ने उनकी पिटाई कर दी. इसी बीच दो यात्रियों ने चाकू निकाल लिए और उनपर हमला कर दिया. इसके बाद आरोपियों ने चारों युवकों को असावटी रेलवे स्टेशन पर फेंक दिया.

इस हमले में चारों बुरी तरह से घायल हो गए जिन्हें तुरंत ही पलवल के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां पर जुनैद की मौत हो गई. अभी तक पुलिस ने इस मामले में किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है.

मोहसिन ने बताया कि उसके दो भाई अभी भी अस्पताल में भर्ती हैं. पीड़ितों ने पुलिस के इमरजेंसी नबंर पर फोन किया था लेकिन कोई रिसपोंस नहीं मिला. इसके साथ ही मोहसिन ने कहा कि हमने ट्रेन की चेन खींचने की भी कोशिश की थी लेकिन वे कामयाब नहीं हो पाए.

बल्लभगढ़ रेलवे स्टेशन पर जीआरपी अधिकारियों को घटना की सूचना दी गई लेकिन उन्होंने हमारी मदद करने से इंकार कर दिया जिसके बाद हमने इस मामले की शिकायत दिल्ली पुलिस में की.