दो बार विधायक का चुनाव लड़ चुका है बिहार टॉपर घोटाले का डॉन, सीधे दिल्ली की पहुंच से मिला था टिकट

दो बार विधायक का चुनाव लड़ चुका है बिहार टॉपर घोटाले का डॉन, सीधे दिल्ली की पहुंच से मिला था टिकट

पटना : आप जानते हैं कि बिहार टॉपर घोटाला 2017 का असली किंगपिन कौन है? जब इस शख्स के बारे में पता चलेगा तो हो सकता है कि आंखों पर राजनीतिक पट्टी बांधे लोग उसे बेकसूर बताने लगें. बिहार टॉपर घोटाला 2017 का असल सूत्रधार जवाहर प्रसाद सिंह बताया जा रहे हैं. इस नाम को सुनते ही बीजेपी ने टॉपर घोटाले का जिक्र ही बंद कर दिया है.

जनसत्ता के मुताबिक बिहार बोर्ड की 12वीं की परीक्षा में कला वर्ग से टॉप करने वाला गणेश कुमार समस्तीपुर जिले के ताजपुर स्थित रामनंदन सिंह जगदीश नारायण इंटर विद्यालय से पास हुआ है.

इस विद्यालय के सचिव जवाहर प्रसाद सिंह और उनके बेटे व स्कूल के प्रिंसिपल अभितेन्द्र कुमार सिंह को पुलिस खोज रही है. खबर लिखे जाने तक दोनों बाप-बेटे फरार हैं. पुलिस गणेश कुमार समेत पांच लोगों को मामले में गिरफ्तार हो चुकी है.

जवाहर प्रसाद सिंह का बीजेपी से करीबी नाता बताया जा रहा है. सिंह बीजेपी के टिकट पर लगातार दो बार 1985 और 1990 में कल्याणपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुका हैं. सूत्र बताते हैं कि उसकी सीधे केनद्रीय नेतृत्व तक पहुंच थी और उसका टिकट दिल्ली से ही फायनल हो जाता था. पुलिस की जांच के  मुताबिक सिंह के चाल, चरित्र और चेहरे की जानकारी बीजेपी के कई नेताओं के साथ-साथ बिहार बीजेपी के अध्यक्ष नित्यानन्द राय को भी है.