पत्नी को ग्रुप सैक्स करते देखकर वो खुश होता था, महिला सशक्तीकरण के लिए ऐसा किया, अदालत में दिया बयान

पत्नी को ग्रुप सैक्स करते देखकर वो खुश होता था, महिला सशक्तीकरण के लिए ऐसा किया, अदालत में दिया बयान

नई दिल्ली: पत्नी को पराये युवकों के साथ सहवास करते देखना उस बीबीसी के प्रेजेन्टर को आनंद देता था. उसने कोर्ट को बताया कि उसने अपनी पत्नी को सशक्तिकरण के लिए अनजान लोगों के साथ सेक्स की छूट दी थी . उन्होंने कहा कि जब उनकी पत्नी अनजाने युवकों के साथ सेक्स ऐक्ट कर रही थीं, तो वह खुद दूर खड़े रहे, क्योंकि उन्हें लगता था कि इसके जरिए उनकी पत्नी सशक्त बन रही हैं. बीबीसी के पूर्व प्रजेंटर टोनी वैड्सवर्थ पर 1992 से 1996 के बीच वॉरिकशायर वुड्स में कुछ लड़कों को यौन गतिविधियों के लिए प्रोत्साहित करने का आरोप है.

इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के मुताबिक, टोनी वैड्सवर्थ ने कहा कि उनकी पत्नी जूली वैड्सवर्थ एक बेहद खास इंसान है जो 1990 के दशक में पुरुषों के साथ सेक्स ऐक्ट करने को बेहद उत्साहवर्द्धक मानती थीं. उन्होंने वॉरविक क्राउन कोर्ट को बताया, ‘यह बहुत सकारात्मक था, क्योंकि वह खुद को एक महिला के रूप में सशक्त महसूस कर रही थीं. सिर्फ मैं नहीं, बल्कि पूरा देश देख सकता है कि वह कितनी खूबसूरत महिला हैं.’

अदालत में दोनों पति-पत्नी ने अनजान लोगों के साथ सेक्सुअल ऐक्टिविटी करने की बात स्वीकार की है, लेकिन उनके मुताबिक उन्होंने जिनके साथ यह किया, वे बच्चे नहीं बल्कि युवा थे. अपने बचाव में टोनी ने कहा कि दो अलग-अलग घटनाओं में सेक्सुअल ऐक्टर के रूप में 3-3 पुरुष शामिल थे और वे संभवतः 16,17 और 18 वर्ष के थे.

टोनी ने एक शिकायतकर्ता के साथ यौन संबंध को लेकर कहा कि जब उनकी पत्नी अंजान व्यक्ति के साथ सेक्सुअल ऐक्टिविटी में संलिप्त होती थीं, तो उन्हें यह देखना बेहद कामुक लगता था. टोनी ने कोर्ट में यह स्वीकार किया कि उनके शिकायतकर्ता के साथ यौन संबंध रहे हैं, लेकिन वह इस बात से बार-बार इनकार करते रहे कि वह एक नाबालिग था. उधर अपनी पत्नी के साथ रिश्तों को लेकर टोनी ने कहा कि पत्नी जूली के साथ उनके संबंध बेहद अच्छे हैं.
(courtsey -the independent)