मस्जिद से चोरी के बाद कहा – ये मेरे और खुदा के बीच का मामला

मस्जिद से चोरी के बाद कहा – ये मेरे और खुदा के बीच का मामला

इस्लामावाद : पंडित और मौलवियों की सिखाई कहानियां कभी कभी उनके ही गले पड़ जाती हैं. पाकिस्तान में एक व्यक्ति ने मस्जिद से करीब 50 हजार रुपये की चोरी की उसके बाद उस शख्स ने एक खत छोड़ दिया. खत में लिखा है कि यह उसके और ऊपरवाले के बीच का मामला है और किसी को इसमें दखल देने की जरूरत नहीं है. यह घटना दक्षिणी पंजाब के खानेवाल जिले के जामिया मस्जिद सादीकुद मेदिना में हुई.
एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक चोर ने दान पेटी के दो डिब्बे और मस्जिद में रखी एक जोड़ी बैट्री चुरा ली. मस्जिद के मौलाना कारी सईद ने बताया कि सभी चीजें 50 हजार रुपये मूल्य की थी.

खत में चोरी की वजह
चोर ने मस्जिद में चोरी का कारण बताते हुए एक खत भी छोड़ा है. इस खत में उसने लिखा है, ‘यह मेरे और अल्लाह के बीच का मामला है. कृपया कोई मुझे ढूंढने की कोशिश ना करे. मैं काफी जरूरतमंद व्यक्ति हूं और इसलिए मैं अल्लाह के घर से चोरी कर रहा हूं.’ चोर ने कहा कि वह एक बार मौलवी से मदद की मांग करते हुए मस्जिद आया था लेकिन मौलवी ने मदद देने से मना कर दिया और उसे वहां से निकाल बाहर किया.

लोगों ने जताई हमदर्दी
चोर ने खत में लिखा है, ‘लोगों द्वारा मदद देने से मना करने के बाद मुझे मस्जिद में चोरी करने के लिए मजबूर होना पड़ा. मैंने किसी के घर से कोई चोरी नहीं की है. मैं सिर्फ अल्लाह के घर से कुछ चीजें चुरा रहा हूं, इसलिए यह मेरे और अल्लाह के बीच का मामला है. हमारे मामले में किसी और को दखल नहीं देनी चाहिए.’ खबर के मुताबिक स्थानीय लोगों ने चोर से हमदर्दी जताते हुए सईद से उसे माफ कर देने को कहा है.
ऐसा पहली बार नहीं हुआ है
ठीक इसी तरह की घटना पिछले साल रमजान के महीने में जहानियन में हुई थी. चोर ने करीमन मस्जिद में चोरी करके वहां एक खत छोड़ दिया था. इस खत में भी गरीबी का हवाला देते हुए कहा गया था कि उसके पास जब पैसे आएंगे तब वह मस्जिद को वापस लौटा देगा.