महंगे टोल से हाईवे पर चलने में बजेगा बैंड, बस यात्रा भी होगी महंगी !

नई दिल्लीः एक के बाद एक कई बार ट्रेन का किराया बढ़ाने के बाद. अब केन्द्र की नजर आपकी सड़क मार्ग से यात्रा पर है. ट्रेन का किराया बढ़ने के कारण जो लोक हाईवे से यात्राएं करने लगे थे सरकार अब उनकी जेब को निशाना बनाने के मूड में है.

सरकार नयी परिवहन पॉलिसी बना रही है जिसके तहत अब टोल रोड पर टैक्स की वसूली किलोमीटर के हिसाब से होगी. ये दर 5 रुपये प्रति किलोमीटर रखने का प्रस्ताव है.

हर साठ किलो मीटर पर एक टोल प्लाज़ा होगा जिस पर लोगों से 300 रुपये वसूल किए जाएंगे. जाहिर बात है कि टोल बढ़ने से बसों का किराया भी बढ़ जाएगा.

परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि उनके पास सुझाव आया है कि टोल टैक्स प्रति किलोमीटर की दर से वसूला जाए. इस पर विचार विमर्श किया जा रहा है.

एक अधिकारी ने बताया, नैशनल हाइवे पर टोल टैक्सच को लेकर अकसर विवाद होता रहा है. ऐसे में प्रति किलोमीटर के रेट से टोल टैक्सो वसूला जाता है तो कम दूरी तय करने वाले वाहनों को कम टैक्स देने पड़ेगा.

गौरतलब है कि अभी नैशनल हाइवे पर लगभग 60 किलोमीटर की दूरी पर टोल प्लालजा बनाया जाता है और टोल कंपनियों की मांग को देखते हुए लगभग हर साल टोल दरों में वृद्धि की जाती है.

इन दिनों औसतन 5 रुपए प्रति किलोमीटर की दर से टोल टैक्स वसूला जाता है, लेकिन नई पॉलिसी पर टोल रेट में संशोधन को लेकर भी नए सिरे से विचार किया जाएगा.

अगस्त से शुरू होगी नई पॉलिसी
जानकारी के मुताबिक, सबसे पहले अगस्त में शुरू हो रहे ईस्ट र्न पेरिफिरल एक्ससप्रेस-वे पर नई पॉलिसी के मुताबिक, टोल टैक्स् वसूली की जाएगी. यह एक्सकप्रेस वे पलवल-गाजियाबाद-कुंडली के बीच बन रहा है, जो लगभग 135 किलोमीटर लंबा है.

इससे पहले टोल पॉलिसी पर काम करने को कहा गया है, ताकि अगस्त तक इसे लागू किया जा सके. एक्सप्रेस-वे पर इसे प्रयोग के तौर पर शुरू किया जा सकता है.

(inputs from-patrika)

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें