दिल्ली के डिपुटी सीएम ने शिक्षा में गाड़े झंडे, इन 8 बातों से विपक्ष के मुंह पर लगाया ताला

हम शिक्षित राष्ट में विश्वास रखते है और यह फ़र्ज़ी राष्ट्रवाद में.

 

बीजेपी शाषित जितने भी राज्य है उनका रिजल्ट और दिल्ली का रिजल्ट compare करवा लीजिये

 

हम दिल्ली का एक चौथाई हिस्सा शिक्षा पर खर्च करते आये है. इसकके लिए हमने नकल को रोकने के लिए बड़ा अभियान चलाया

 

इस बार 100 न लाने वाले बच्चे बड़े है. इस बार उनकी संख्या 33 हो गयी. 100 % रिजल्ट लेन वाले स्कूल 12 है. 90 % रिजल्ट लाने वाले 554 स्कूल है.

 

देश मे केंद्रीय विद्यालय बहुत अच्छा काम कर रहे है. दिल्ली सरकार के प्रतिभा विकास विद्यालय का रिजल्ट 99 % है.

 

पूरे दिल्ली का पास रिजल्ट करीब 88 % है. 79.2% रिजल्ट प्राइवेट स्कूल का रहा है. निजी स्कूलों से हम 9% आगे रहे है.

 

पूरे देश के सरकारी स्कूलों से दिल्ली के स्कूल 6 % आगे रहे है.

 

पहली बार 372 बच्चो ने jee का एग्जाम पास किया है.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें