दिल्ली में राजनाथ की कानून व्यवस्था भगवान भरोसे, कहीं हनीट्रैप में सांसद तो कहीं हमला

नई दिल्ली: दिल्ली में कानून व्यवस्था सीधे राजनाथसिंह के हाथ में है लेकिन राजधानी की कानून व्यवस्था बेहद खराब है. हालात ये हैं खुद बीजेपी के सांसद सेफ नहीं हैं. एक साथ एक ही दिन दिल्ली में दो मामले दर्ज हुए हैं जिनमें सीधे बीजेपी के सांसद शिकार हुए. सबसे पहले बात करते हैं उस केस की जिसमें बीजेपी का सांसद केसी पटेल हनी ट्रैप में फंस गया. सांसद ने दिल्ली पुलिस को शिकायत दी कि एक गैंग ने उन्हें हनी ट्रैप किया. गैंग को एक महिला चलाती है. सांसद के मुताबिक उसे गाजियाबाद ले जाकर उसकी अश्लील सीडी बनाई गई और अब उसे ब्लैकमेल किया जा रहा है. सांसद के मुताबिक गैंग की लीडर जो एक महिला है वो 5 करोड़ मांग रही है.

पुलिस ने सांसद की शिकायत पर नॉर्थ एवेन्यू थाने में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. आईपीसी की धारा 384 (जबरन वसूली) के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है. दिल्ली पुलिस के सीनियर अधिकारी के मुताबिक, एक टीम गठित की गई है, जो जल्द ही इस गैंग का पर्दाफाश करेगी. अफसर के मुताबिक इस गैंग ने और कई बड़े लोगों को ट्रैप किया हुआ है.
हालांकि कुछ लोग इस मामले में अवैध संबंधों की आशंका भी जता रहे हैं लेकिन दोनों ही सूरत में बीजेपी और उसकी सरकार ही बेनकाब होती है.

दूसरी खबर और भी हैरत अंगेज़ है. दिल्ली में में जीत की हैट्रिक लगाने वाली भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी ही राजनाथ के राज में सेफ नहीं हैं. उनके दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर रविवार रात बदमाशों हंगामा किया और स्टाफ को पीटा. भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने खुद ट्वीट कर लूट की जानकारी दी है. सांसद के मुताबिक, करीब 10 लोगों ने उनके घर पर हमला किया. उनका घर 159 नॉर्थ एवेन्यू है.

हमले के समय मनोज तिवारी घर पर मौजूद नहीं थे. न्यूज एजेंसी एएनआइ से बातचीत में मनोज तिवारी ने आशंका जताई है कि इस हमले में पुलिस भी शामिल हो सकती है. मतलब पुलिस पर एक और संगीन आरोप. हमलावरों की तस्वीर सीसीटीवी में कैद हुई है. मनोज तिवारी के मुताबिक, ये जानलेवा हमला है. हमारे दो साथी घायल हैं. पुलिस का कहना है कि मनोज तिवारी के घर के पास एक मोड़ पर मनोज तिवारी के स्टॉफ की स्कोर्पियो कार और एक वैगनआर कार में मामूली टक्कर हो गई. इसी बात पर दोनों पक्षों में कहासुनी हो गई.

उसके बाद मनोज तिवारी का स्टॉफ घर पर आ गया, लेकिन वैगनआर कार सवार लोग जो मनोज तिवारी के घर के पास ही रहते हैं, उन लोगों ने कुछ और लोगों को फोन कर बुला लिया और मनोज तिवारी के घर में हमला कर स्टॉफ से मारपीट की. वैगनआर के शीशे भी टूट मिले हैं. मनोज तिवारी के स्टॉफ में कुछ लोगों को चोटें भी आयीं हैं.

ये दोनों मामले बताते हैं कि दिल्ली की कानून व्यवस्था का हाल कैसा है. आम आदमी पार्टी के नेता कहते हैं कि यही पुलिस अगर केजरीवाल के पास होती तो आज उनका जीना मुहाल हो गया होता. बीजेपी 15 दिन तक आंदोलन करती.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें