कपिल मिश्रा ने एसीबी को सौंपा पीला लिफाफा, दोपहर में जाएंगे सीबआई, केजरीवाल के खिलाफ आरोप

नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल पर 2 करोड़ लेने का गंभीर आरोप लगाने के बाद आप से निष्कासित दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा सोमवार को एंटी करप्शन ब्यूरो(एसीबी) पहुंचे. उनके हाथ में एक पीला लिफाफा था जिसमें केजरीवाल के खिलाफ शिकायतों का जिक्र है. कपिल के मुताबिक उन्होंने एसीबी को टैंकर घोटाले से जुड़ी जानकारी दी. इसके बाद बाहर आकर मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि मैंने सीबीआई से वक्त मांगा है और घूस की शिकायत करने जाऊंगा. सीबीआई के सामने कपिल 2 करोड़ के लेन देन के आरोपों की शिकायत करेंगे जबकि एसीबी में उन्होंने जलबोर्ड घोटाले में शीला दीक्षित को बचाने का आरोप लगाया है. वैसे शीला वाले घोटाले की जांच खुद एसीबी कर रहा है तो केजरीवाल कैसे इसमें देरी कर सकते हैं.

उन्होंने कहा कि मैं अभी एसीबी अधिकारियों से मिला और बताया कि टैंकर घोटाले की रिपोर्ट देने के बाद मुझसे कानून मंत्रालय ले लिया गया. मैं मामले में शिकायतकर्ता तो था लेकिन आज से गवाह भी बनकर रहूंगा. जिसने भी भ्रष्टाचार किया है और जिसने उन्हें बचाया है वो जेल जाएगा.

इस बारे में मीडिया को जानकारी देते हुए उन्होंने रविवार को कहा था कि वो ब्यूरो को टैंकर स्कैंम में आशिष तलवार और वैभव पटेल का नाम देंगे. कपिल ने दावा किया है कि टैंकर घोटाले की फाइल दो साल पहले ही सरकार को सौंप दी गई थी लेकिन इस पर कार्रवाई नहीं हुई.

बता दें कि कपिल मिश्रा ने रविवार को ही राजघाट पर मीडिया से बात करते हुए आरोप लगाए थे कि सतेंद्र जैन ने अरविंद केजरीवाल को दो करोड़ रुपए दिए. उन्होंने कहा कि मेरे सामने यह सब हुआ. उन्होंने कहा कि उसके बाद भी उन्हें क्लीनचिट दी जा रही है. अरविंद केजरीवाल को घेरते हुए कपिल मिश्रा ने कहा कि सतेंद्र जैन के भ्रष्टाचार को बचाने की क्या जरूरत है और आखिर खुद पैसे लेने की क्या जरूरत आ पड़ी थी.

कपिल मिश्रा के इस आरोप के बाद केजरीवाल मुश्किल में फंसते नजर आ रहे हैं. विपक्षी दल उनपर निशाना साध रहा है और उनसे नैतिकता के आधार पर पद छोड़ने की मांग कर रहा है.

कुमार को नहीं हो रहा ‘विश्वास’

कपिल मिश्रा के इन आरोपों पर आप नेता कुमार विश्वास और पूर्व आप नेता योगेंद्र यादव को विश्वास नहीं हो रहा है. कुमार विश्वास ने एक बयना में केजरीवाल का समर्थन करते हुए कहा कि मैं अरविंद केजरीवाल को पिछले 12 वर्ष से जानता हूं और अरविंद के रिश्वत लेने की बात तो कोई दुश्मन सोच भी नहीं सकता है.

उन्होंने कपिल मिश्रा का बिना नाम लिए कहा कि आरोप अविश्वनीय है. वहीं आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता योगेंद्र यादव ने भी केजरीवाल का बचाव करते हुए कपिल मिश्रा पर ही सवाल उठाए हैं. योगेंद्र यादव ने साफ तौर पर कहा कि केजरीवाल कभी घूस नहीं ले सकते. उन्होंने कहा कि इतने गंभीर आरोप ऐसे हल्के ढंग से नहीं लगाने चाहिए. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि कपिल मिश्रा अब तक क्यों शांत बैठे थे.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें