आर्मी ने नहीं लिया बदला- सेना.मोदी को बदनामी से बचाने के लिए मीडिया ने चलाई झूठी खबर

आर्मी ने नहीं लिया बदला- सेना.मोदी को बदनामी से बचाने के लिए मीडिया ने चलाई झूठी खबर




नई दिल्ली: अलग अलग मीडिया हाऊस में बाकायदा मोदी के समर्थक पत्रकारों की पूरी फौज जमी हुई है. ये लोग अक्सर झूठी खबरों और अफवाहों को सच्चा बताने में लगे रहते हैं. हाल में सीमा पर जब आर्मी जवानों के शवों के साथ बर्बरता की गई तो मोदी की बदनामी होने लगी. इसके बाद मीडिया की इस स्लीपर सेल ने झूठी खबर चलानी शुरू कर दी. कहा गया कि आर्मी ने सैनिकों की हत्या का बदला चुका दिया है और पाकिस्तान के बंकर नेस्तनाबूत किए हैं.

अब खुद आर्मी ने उन मीडिया रिपोर्ट्स को खारिज कर दिया है जिसमें कहा जा रहा था कि जवानों के पार्थिव शरीर को क्षत-विक्षत करने का बदला लेते हुए भारतीय सेना ने पाकिस्तान के कुछ बंकरों को तबाह कर दिया है और कुछ दुश्मनों को मार गिराया है.

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक, नोर्थन कमांड के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, ‘सोमवार रात को के जी सेक्टर में किसी तरह की भी बदले की कार्रवाई नहीं हुई, टीवी चैनल वाले बिना हम लोगों से पूछे ही आग-बबूला हो जाते हैं. हम लोग बदला लेंगे और जब लेंगे तब आधिकारिक तौर पर बयान भी जारी करेंगे.’

एक मई को पाकिस्ता नी सेना की बैट टीम 250 मीटर तक भारतीय सीमा में घुस गई थी. उन्होंने दो भारतीय जवानों की हत्याब कर दी थी. साथ ही उनके शवों से भी बर्बरता की गई थी. इस हमले में सेना के नायब सुबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ के प्रेम सागर शहीद हुए थे. बीएसएफ में हेड कॉन्सटेबल के पद पर तैनात प्रेम सागर मूल से उत्तर प्रदेश के देवरिया गांव के टीकमपार गांव के रहने वाले थे.

उसके बाद खबरें आई थीं कि भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई करते हुए पाकिस्तान की दो चौकियां को तबाह कर दिया. इस कार्रवाई में पाकिस्तानी सेना के 7 जवान मारे जाने की बात कही जा रही थी