कपिल की पिटाई के पीछे की क्या है इनसाइड स्टोरी, किस पार्टी का था पीटने वाला?

कपिल की पिटाई के पीछे की क्या है इनसाइड स्टोरी, किस पार्टी का था पीटने वाला?




नई दिल्ली: अनशन पर बैठे दिल्ली के पूर्व मंत्री कपिल मिश्रा की धुनाई के मामले में अजब हालात बन गए हैं. कपिल की पिटाई के कुछ घंटे के अंदर ही ये बहस शुरू हो गई कि लातें बाज़, घूंसे बाज़ और थप्पड़ बाज़ किस पार्टी का मैंबर था. आम आदमी पार्टी ने दावा किया है कि कपिल मिश्रा पर हमला करने वाला युवक भारतीय जनता पार्टी के यूथ विंग से जुड़ा हुआ है.

KN  ने आपको खबर दी थी कि कपिल के धरने के दौरान दौरान यहां एक शख्स आया और उन्हें लात-घूंसे से मारने लगा. हमला करने वाले शख्स का नाम अंकित भारद्वाज बताया जा रहा है. वह हरे रंग की टीशर्ट में था.

इस घटना के बाद वहां मौजूद कपिल मिश्रा के समर्थकों ने आरोपी को पकड़ लिया. बताया जा रहा है कि लोगों ने उसकी भी जमकर पिटाई की. आरोपी ने कहा कि इन्होंने पार्टी को धोखा दिया. मुझे किसी ने नहीं भेजा. मैं अपने आप आया हूं.

पुलिस ने बताया AAP का सदस्य

दिल्ली पुलिस के एक डीसीपी ने अंकित को आम आदमी पार्टी का ही कार्यकर्ता बताया है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, अंकित ने पुलिस को बयान दिया है कि वो आम आदमी पार्टी का ही कार्यकर्ता है, कपिल और वो एक दूसरे को अच्छे से जानते हैं. घटना से करीब आधे घंटे पहले वह कपिल मिश्रा से मिला था, दोनों ने हाथ भी मिलाया था.

अंकित का कहना है कि उसके बाद जब वह धरने पर बैठने और पार्टी के खिलाफ बोलने की वजह पूछने गया तो, कपिल के ही साथियों ने उसको मारा. अंकित का कहना है कि मैंने कोई हमला नही किया, उल्टे मुझे पीटा गया.

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने हमला करने वाले युवक की फेसबुक प्रोफाइल दिखाते हुए कहा कि वह भारतीय जनता युवा मोर्चा का पदाध‍िकारी है. संजय सिंह ने कहा कि इसके पीछे कोई बड़ी साजिश लगती है, जिसकी जांच होनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी किसी भी तरह की हिंसा के ख‍िलाफ है और ऐसे हमले की निंदा करती है. उन्होंने कहा कि हाल के सालों में सबसे ज्यादा हिंसा की शिकार आम आदमी पार्टी ही हुई है. बीजेपी के लोग अक्सर मारपीट और स्याही फेंकने जैसे कामों को अंजाम देते रहते हैं.

क्या ये अंकित भारद्वाज वही है ?

संजय सिंह ने जो फेसबुक प्रोफाइल दिखाया है उसमें अंकित भारद्वाज ने खुद को भारतीय जनता युवा मोर्चा की प्रदेश कार्यकारिणी का सदस्य बताया है. वह अपने को अख‍िल भारतीय विद्यार्थी परिषद का पूर्व विभाग प्रमुख बताता है. उसके फेसबुक पोस्ट कथित राष्ट्रवादी और दक्षिणपंथी विचारों से भरे हुए हैं. संजय सिंह द्वारा बताए गए अंकित भारद्वाज नामक शख्स के फेसबुक पर शेयर किए गए फोटोग्राफ देखें तो वह बीजेपी के मंत्रियों और नेताओं के साथ दिख रहा है. वह सोशल मीडिया पर काफी एक्ट‍िव दिख रहा है. यही नहीं उसने अपने नाम से एक वेबसाइट  ankitbhardwaj . info भी बनवा रखी है.

अटैक करने वाले की जांच हो

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा है कि इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि प्रथम दृष्टया तो यही लगता है कि हमलावर AAP का कार्यकर्ता हो सकता है. उधर अंकित का दावा है कि वो हमले में शामिल नहीं था और हमले के वक्त घर पर था.