केजरीवाल पर कपिल मिश्रा ने लगाए कई आरोप, लेकिन समझा कोई नहीं.

केजरीवाल पर कपिल मिश्रा ने लगाए कई आरोप, लेकिन समझा कोई नहीं.

नई दिल्ली: आज अपनी प्रेस कांफ्रेंस में कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर की हमले बोले लेकिन उनकी बात किसी की समझ में नहीं आई. केजरीवाल के खिलाफ कपिल मिश्रा ने एक प्रेजेन्टेशन दिखाया जिसमें कई कागजात थे. इन कागजात में ज्यादातर पत्रकार कुछ समझ ही नहीं सके. कपिल मिश्रा ने कहा कि केजरीवाल का कॉलर उनके हाथ में है.कपिल मिश्रा बोले कि गुरुवार को आम आदमी पार्टी ने कहा कि एक ऐसे व्यक्ति को लाया गया कि जिसने कहा कि उसने 2 करोड़ का चंदा दिया हो. कपिल ने ये भी कहा कि उनकी जान को खतरा है और केजरीवाल उन्हें मरवा सकते हैं. कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए प्रोफेशनल रिश्ते जोड़ते जोड़ते कपिल मिश्रा ने केजरीवाल का नाम हर उस शख्स से जोड़ दिया जो बदनाम है. बहरहाल कपिल गुस्से में ज्यादा मात्रा में बोल रहे हैं और उसमें दम कम होता है.

कपिल मिश्रा ने कहा कि डेवलिन कारपोरेशन एक हवाला कंपनी है, जिसके मालिक रोहित टण्डन हैं और इस कंपनी के मालिक हेमप्रकाश शर्मा हैं. कपिल बोले कि खुलासों के बाद मेरी हत्या करवाई की जा सकती है.उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल माफिया है, अरविंद केजरीवाल को भारत छोड़ कर भागना पड़ेगा.

कपिल मिश्रा ने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने सोशल मीडिया पर गलत वीडियो को चला रहे हैं. उन्होंने कहा कि केजरीवाल एक IRS अफसर रहे हैं, इसलिए उन्हें पता है कि क्या काम कैसे करना है.

कपिल बोले कि मुकेश कुमार की कंपनियों पर दिल्ली सरकार के काफी सारे नोटिस गये हुए हैं, यही कारण है कि वह अरविंद केजरीवाल की हर बात मान रहे हैं. हेम प्रकाश शर्मा कई सारी कंपनियों के मालिक हैं. डेवलिन कारपोरेशन हवाला कंपनी है, जिसके मॉलिक रोहित टण्डन हैं और इस कंपनी के मॉलिक हेम प्रकाश शर्मा हैं

लेटरहैड के डिजायन पर सवाल
कपिल मिश्रा ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एक प्रेजेंटेशन दिखाई, उसमें उन्होंने दिखाया कि एक साथ रात को 12 बजे चार कंपनियों ने 50 लाख रुपये भेजे. उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया में जिस लेटर हेड बनाया है, वह लेटर हेड नकली है. जो कि घर में बैठकर बनाया गया है. उन्होंने दिखाया कि दो कंपनियों के लेटर हेड में मुकेश कुमार के साइन हैं, और दो लेटर हेड में दो में साइन नहीं हैं.

इसी साल कंपनी के डायरेक्टर बने मुकेश

कपिल मिश्रा ने कहा कि अब तो अरविंद केजरीवाल ने वीडियो ट्वीट कर दिया है कि मुकेश कुमार ने उन्हें दो करोड़ रुपये दिये हैं, अब उन्हें IT में जाकर यह बताना चाहिए. उन्होंने बताया कि मुकेश कुमार इसी साल 2017 में कंपनियों के डायरेक्टर बने हैं, जबकि यह डोनेशन 2014 में दी गई थी. इन्हें एमसीडी चुनावों के एक दिन पहले ही डायरेक्टर बनाया गया था. 2012 में उन्होंने दो कंपनियों को छोड़ दिया था, तो फिर वह 2014 में पैसा कैसे दे सकते हैं.

बलि का बकरा बनाये जा रहे हैं मुकेश
कपिल मिश्रा ने कहा कि मुकेश कुमार को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, अरविंद केजरीवाल आजकल झूठी खबरें चलवा रहे हैं. मीडिया को भी मुकेश कुमार की जानकारी सामने लानी चाहिए. अरविंद केजरीवाल के वीडियो शेयर करने से उनका काला सच सामने आ गया है. कपिल मिश्रा ने कहा कि इन चार कंपनियों में से एक कंपनी को मनीष सिसोदिया के विभाग ने फर्जी कंपनी बताया था.