पाकिस्तान ने भारत पर लगाया बेहद घटिया आरोप, उच्चायुक्त को तलब करने की खबर

पाकिस्तान ने भारत पर लगाया बेहद घटिया आरोप, उच्चायुक्त को तलब करने की खबर




नई दिल्ली:  पाकिस्तान भारत पर वैसे तो अक्सर इल्जाम लगाता रहता है लेकिन इस बार उसने जो इल्जाम लगाया है वो बेहद अमानवीय है. पाकिस्तान ने भरत पर वो हरकर करने का इल्जाम लगाया है जो ये देश कभी नहीं कर सकता . इल्जाम है इलाज के लिए आने वाले पाकिस्तानियों को वीजा ने देने का. कहा गया है कि भारत मजबूर मरीज़ों से खुन्नस निकाल रहा है. खबर है कि अब पाकिस्तान ने भारत के हाई कमिश्नर को समन भेजा है और इस बात की शिकायत की है. शनिवार को यह जानकारी पाक मीडिया ने दी. भारत की ओर से वीजा बैन और हाई कमिश्नर को तलब किए जाने पर आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया है.

जियो न्यूज ने एक ऑफिशिल के हवाले से कहा कि लिवर और हार्ट के मरीजों को नई दिल्ली, चेन्नई और दूसरे भारतीय हॉस्पिटल्स में इलाज की जरूरत है. मेडिकल वीजा बैन किए जाने से इस पर असर होगा. ऑफिशल ने कहा, “भारत ने पाकिस्तानियों के लिए मेडिकल वीजा हासिल करना नामुमकिन बना दिया है.”

उन्होंने कहा कि इस मसले पर पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में भारतीय हाई कमिश्नर गौतम बंबाले को तलब किया गया है. हालांकि, भारत की ओर से इस पर आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं कहा गया. सूत्रों के मुताबिक, बंबावले इस वक्त भारत में हैं.

दो महीने से नहीं मिला वीजा: दुनिया टीवी

पाकिस्तानी न्यूज चैनल दुनिया टीवी के मुताबिक, “वीजा प्रोसेस को और पेचीदा बनाने के लिए भारत नियमों में कई बदलाव कर रहा है. दो महीने से किसी भी पाकिस्तानी को वीजा नहीं दिया गया है.”

पाकिस्तान इन हालात को भारत की ओर से अनडिक्लियर्ड वीजा बैन बता रहा है.

कुलभूषण मामले से खफा है भारत

बता दें कि भारतीय सिटिजन कुलभूषण जाधव को पाकिस्तान की आर्मी कोर्ट ने फांसी की सजा सुनाई है. पाकिस्तान ने उन पर जासूसी करने का आरोप लगाया है.

कोर्ट के इस फैसले से भारत खफा है. उसका कहना है कि जाधव पर बेबुनियाद आरोप लगाए गए हैं. उन्हें पाकिस्तान में गिरफ्तार नहीं किया गया, बल्कि ईरान से अगवा किया गया था.

कश्मीर में दो भारतीय जवानों के सिर काटने की घटना के बाद दोनों देशों के बीच तनाव और बढ़ गया है. यह घटना 1 मई की है. पाकिस्तान की ओर से फायरिंग की गई थी.