दिल्ली के बीजेपी सांसद ने की कपिल मिश्रा को हिरासत में लेने की मांग, कहा राजा वो हरिश्चंद्र नहीं

दिल्ली के बीजेपी सांसद ने की कपिल मिश्रा को हिरासत में लेने की मांग, कहा राजा वो हरिश्चंद्र नहीं

नई दिल्लीः दिल्ली के पूर्व जल मंत्री कपिल मिश्रा को हिरासत में ले लेना चाहिए. सीबीआई उन्हें पकड़कर ले जाए और सख्ती से पूछताछ करे. ये बयान किसी और ने नहीं दिल्ली से बीजेपी के सांसद प्रवेश वर्मा ने दिया है. पंजाब केसरी अखबार से बातचीत में उन्होंने ये मांग की. प्रवेश वर्मा ने कहा कि उस कमरे में तीन लोग थे. अब सच सामने लाने के लिए सीबीआई को चाहिए कि वह कपिल को भी हिरासत में ले और मनीष सिसोदिया व अरविंद केजरीवाल को भी हिरासत में ले. तीनों का नार्को टेस्ट कराया जाए ताकि सच सामने आए. एक अरविंद केजरीवाल, सत्येंद्र जैन और कपिल मिश्रा. भाजपा वाला तो वहां था नहीं. मिश्रा का कहना है कि मेरे सामने दो करोड़ जैन ने केजरीवाल को दिए.

उन्होंने कहा कपिल मिश्रा ने कहा है कि उनके सामने चेक पर चेक इधर से उधर किए जाते थे. 400 करोड़ का टैंकर घोटाला भी मिश्रा ने उठाया. दो साल से यह सब चल रहा था, बड़ी-बड़ी डील हुई तब तो कपिल नहीं बोले, लेकिन 2 करोड़ रुपए की बात पर ऐसा क्या हुआ कि वह सरकार के खिलाफ खड़े हो गए.

उन्होंने कहा- मुझे लगता है कि कपिल बड़ा सच छिपा रहे हैं. बात 2 करोड़ की नहीं इससे कहीं ज्यादा बड़ी रकम की है. हो सकता है कि मामला 200 करोड़ का हो और शेयर नहीं मिलने के कारण कपिल ने बगावत की. अब सच सामने लाने के लिए सीबीआई को चाहिए कि वह कपिल को भी हिरासत में ले और मनीष सिसोदिया व अरविंद केजरीवाल को भी हिरासत में ले. तीनों का नार्को टेस्ट कराया जाए ताकि सच सामने आए.

उन्होंने कहा बड़ी बात यह है कि इनके मंत्री पैसों के लेनदेन को लेकर लड़ रहे हैं, लेकिन कोई विकास के मुद्दे पर नहीं बोल रहा है. सीएम भी आरोपों पर चुप्पी साधे हुए हैं.
उन्होंने कहा मुझे दिल्ली सरकार के अधिकारियों ने बताया है कि हर विधायक का उसके क्षेत्र में होने वाले विकास कार्य में 2 प्रतिशत का कमीशन बंधा हुआ है. खुद सीएम ने इसके लिए कह रखा है कि जो ठेका हो, उसमें हिस्सा विधायक को दिया जाए ताकि वह बड़ा घपला नहीं करें.

उन्होंने कहा कपिल मिश्रा ने कहा है कि उनके सामने चेक पर चेक इधर से उधर किए जाते थे. 400 करोड़ का टैंकर घोटाला भी मिश्रा ने उठाया. दो साल से यह सब चल रहा था, बड़ी-बड़ी डील हुई तब तो कपिल नहीं बोले, लेकिन 2 करोड़ रुपए की बात पर ऐसा क्या हुआ कि वह सरकार के खिलाफ खड़े हो गए. मुझे लगता है कि कपिल बड़ा सच छिपा रहे हैं. बात 2 करोड़ की नहीं इससे कहीं ज्यादा बड़ी रकम की है. हो सकता है कि मामला 200 करोड़ का हो और शेयर नहीं मिलने के कारण कपिल ने बगावत की.