BJP लीडर का दाऊद से ये कैसा नाता?

BJP लीडर का दाऊद से ये कैसा नाता?




मुंबई: राष्ट्रवादी बीजेपी का ये नेता बाकायदा दाऊद इब्राहिम का रिश्तेदार बन गया है. उसने अपने बेटे का रिश्ता दाऊद के खानदान से जोड़ा है. बड़ी संख्या में पुलिस अफसर और महाराष्ट्र के एक मंत्री इस शादी में शामिल हुए और कुछ ने तो डांस भी किया. बीती 19 तारीख को नासिक में ये शादी हुई थी. इसमें बीजेपी नेता और सीएम देवेंद्र फड़णवीस के करीबी माने जाने वाले मंत्री गिरीश महाजन भी पहुंचे. महाजन महाराष्ट्र सरकार में मेडिकल ऐजुकेशन मिनिस्टर हैं.

महाजन ने कहा, ‘मैं उस शादी में खातिब के बुलाने पर गया था जो कि सम्मानित नेता है.’ बता दें कि दूल्हा स्थानीय मुस्लिम लीडर शहर ए खातिब का भतीजा है. इस मामले में मैं शादी में इसलिए गया क्योंकि मैं खातिब को निजी तौर पर जानता हूं. मेरे साथ पार्टी के विधायक और नासिक के मेयर-डेप्युटी मेयरभी गए थे.’

उनके साथ ही इस शादी में 10 पुलिसवाले भी पहुंचे, इनमें से एक असिस्टेंट पुलिस कमिशनर हैं और बाकी 9 इंस्पेक्टर लेवल के पुलिसकर्मी हैं. महाजन इस शादी में अकेले नहीं गए थे, उनके साथ बीजेपी विधायक देवयानी फरांडे , बालासाहेब सनप और सीमा हिरे भी थे. इसके अलावा नासिक की मेयर रंजना भंसी और डेप्युटी मेयर प्रथमेश गीते भी कुछ पार्षदों को लेकर शादी में पहुंचे.

जानकारी मिलने पर नासिक के पुलिस कमिशनर रविंद्र सिंघल ने मामले की जांच का आदेश दिया है और शादी में पहुंचे पुलिसवालों के बयान भी रिकॉर्ड कर लिए गए हैं. सीएम फड़णवीस ने भी मामले में सिंघल से रिपोर्ट मांगी है. पुलिस कमिशनर रविंद्र सिंघल ने इसकी पुष्टि कर दी है कि जिस शादी में बीजेपी नेता और पुलिसवाले पहुंचे थे वह दाऊद की पत्नी की भतीजी की शादी थी. सिंघल ने बताया, ‘हमें मिली जानकारी के मुताबिक दुल्हन की मां और दाऊद की पत्नी बहनें हैं.’

वहीं गिरिश महाजन ने भी शादी में जाने की बात स्वीकार की है लेकिन उन्होंने यह भी कहा है कि वह इस बात से अनजान थे कि दाऊद की पत्नी और दुल्हन की मां रिश्तेदार हैं. बता दें कि दूल्हा स्थानीय मुस्लिम लीडर शहर ए खातिब का भतीजा है. महाजन ने कहा, ‘मैं उस शादी में खातिब के बुलाने पर गया था जो कि मुस्लिम समुदाय के सम्मानित नेता है.’

महाजन ने कहा, ‘मुझे शादी के एक दिन बाद पता लगा कि दुल्हन दाऊद के परिवार की है. मैं नासिक का मंत्री हूं. मुझे बहुत सारे न्योते मिलते हैं. ऐसे में सभी के रिश्तेदारों के बारे में पता करना मेरे लिए संभव नहीं है. इस मामले में मैं शादी में इसलिए गया क्योंकि मैं खातिब को निजी तौर पर जानता हूं. मेरे साथ पार्टी के विधायक और नासिक के मेयर-डेप्युटी मेयरभी गए थे.’