राष्ट्रपति चुनाव के लिए पहले उम्मीदवार की तलाश पूरी

नई दिल्ली:  आने जा रहे राष्ट्रपति चुनाव के लिए पहले उम्मीदवार का नाम सामने आ गया है. अब तक लगातार राष्ट्रपति के उम्मीदवार को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं. पूर्व प्रशासनिक, कूटनैतिक और राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी भारत के राष्ट्रपति के उम्मीदवार होंगे.

विपक्ष के नेताओं ने उनके सामने आगामी राष्ट्रपति चुनावों में उनका उम्मीदवार बनने की पेशकश की है. महात्मा गांधी के पोते गोपालकृष्ण गाधी ने कहा, “हां, मुझसे बात की गई है. मगर यह शुरुआती दौर की बातचीत है. इसके आगे कुछ ही कहना ठीक नहीं होगा.”

विपक्ष के सूत्रों के अुनसार गोपालकृष्ण गांधी के अलावा पूर्व लोक सभा स्पीकर मीरा कुमार के नाम पर भी सहमति बनती नजर आ रही है. हालांकि, ज्यादातर दल किसी गैर कांग्रेसी को ही उम्मीदवार बनाने के मूड में हैं. जहां एक तरफ गांधी ने इस बारे में ज्यादा बताने मना किया है, वहीं कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी और सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी ने उनसे बात ही. साथ ही, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी ने गांधी के नाम पर राजी है.

खबर थी कि सोनिया गांधी ने ममता से फोन पर बात की थी. ममता बैनर्जी ने 2012 में गोपालकृष्ण गांधी के नाम का सुझाव उपराष्ट्रपति के पद के लिए दिया था, जिसके लिए उन्होंने इंकार कर दिया था. खबर है कि गांधी और मीरा कुमार के अलावा एनसीपी प्रमुख शारद पवार और जेडीयू के शरद यादव के नाम पर भी चर्चा की जा रही है.

बताया जा रहा है कि गांधी शरद पवार, नीतिश कुमार, शरद यादव, एस सुधाकर रेड्डी और डी राजा से मिल चुके हैं. इसके अलावा सीताराम येचुरी नवीन पटनायक, जगन मोहन रेड्डी से मुलाकात कर चुके हैं. हालांकि, रेड्डी ने कहा था कि उनकी पार्टी भाजपा के प्रत्याशी की समर्थन करेंगे.

साथ ही खबर है कि सोनिया गांधी अस्पताल से लौटने के बाद ममता बैनर्जी और मायावती मे मुलाकात करेंगी. विपक्ष के वरिष्ठ नेताओं ने कहा वो पहले सरकार के प्रत्याशी की घोषणा की प्रतीक्षा करेंगे और फिर ही इस ओर कोई ऐलान किया जाएगा. कांग्रेस ने स्पष्ट किया था कि वो अपनी ओर से किसी नाम को आगे नहीं करेगी. राष्ट्रपति चुनाव विपक्ष की एकजुटता की पहली परीक्षा होंगे.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें