सैक्स रैकेट चलाने में बीजेपी का बड़ा नेता पकड़ा, नौकरी के नाम पर फंसाकर करता था ब्लैकमेल

भोपाल :  पहले संघ के पुराने खांटी और मध्यप्रदेश के वित्त मंत्री राघवजी नौकर से अप्राकृतिक सैक्स करने के मामले में फंसे. फिर बीजेपी के कई नेता पाकिस्तानी आईएसआई के लिए जासूसी के इल्जाम में गिरफ्तार हुए. अब बीजेपी का प्रदेश स्तर का एक नेता सैक्स रैकेट चलाने के आरोप में पकड़ा गया है. इस नेता पर ऑनलाइन सेक्स रैकेट चलाने का आरोप लगा है. इस मामले में बीजेपी के प्रदेश मीडिया प्रभारी (एससी मोर्चा) नीरज शाक्य समेत 9 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

एसपी के मुताबिक, एक अश्लील वेबसाइट के जरिए यह लोग लड़कियों की सप्लाई करते थे. इस गिरोह के सदस्य जॉब से जुड़ी विभिन्न वेबसाइट्स पर अपना बायोडाटा अपलोड करने वाली लड़कियों से संपर्क करते थे. यह लोग उन्हें जॉब का ऑफर देकर भोपाल बुलाते थे और फिर सेक्स रैकेट में धकेल देते थे.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मध्य प्रदेश साइबर सेल को शिकायत मिली थी कि भोपाल में ऑनलाइन वेबसाइट के जरिए सेक्स रैकेट चलाया जा रहा है. पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि एक गैंग ग्राहकों को ऑनलाइन बुकिंग के जरिए लड़कियां सप्लाई कर रहा है.

रैकेट में शामिल लोग शहर के पॉश इलाके अरेरा कॉलोनी की अशोका सोसायटी से यह रैकेट चला रहे थे. पुलिस ने शुक्रवार को वहां छापा मारकर 9 लोगों को गिरफ्तार किया. इस रैकेट का सरगना सुभाष नाम का शख्स फरार है. वहीं गिरफ्त में आया एक शख्स नीरज शाक्य बीजेपी का प्रदेश मीडिया प्रभारी (एससी मोर्चा) है. आईएसआई के संपर्क वाला नेता भी पार्टी की सोशल मीडिया सेल का था ये भी मीडिया प्रभारी है.

सेक्स रैकेट में नाम आने के बाद बीजेपी ने अपना दामन साफ रखने के लिए नीरज शाक्य को पार्टी से निष्कासित कर दिया. पहले भी पार्टी राघव जी और आईएसआई से संबंधों में पकड़े गए कार्यकर्ताओं के मामले में ऐसा ही एक्शन ले चुकी है. पार्टी अध्यक्ष बंगारू लक्षमण के नोट लेते हुए स्टिंग में फंसने पर भी पार्टी ने ऐसे ही आपनी इमेज बचाने की कोशिश की थी. सवाल ये है कि इतने बड़े बड़े मामले चलते रहते हैं, गुट बाज़ी के चलते विरोधी कार्यकर्ता शिकायत भी किया करते हैं लेकिन पार्टियां कोई एक्शन क्यों नहीं लेतीं.

छापे में पुलिस ने इनके चंगुल से महाराष्ट्र और मेघालय से आईं चार लड़कियों को भी छुड़ाया है. एसपी (साइबर सेल) शैलेंद्र सिंह चौहान ने बताया, आरोपी नौकरी का लालच देकर मेघालय और महाराष्ट्र की लड़कियों से जिस्मफरोशी करवा रहे थे.

पुलिस ने बताया कि जिस वेबसाइट के जरिए यह लोग गोरखधंधा चलाते थे वह दिल्ली में रजिस्टर्ड है. गौरतलब है कि इसी साल फरवरी में मध्य प्रदेश बीजेपी आईटी सेल के एक नेता को आतंकवाद निरोधी दस्ते ने जासूसी कांड में गिरफ्तार किया था. इस कांड के उजागर होते ही एमपी बीजेपी में हड़कंप मच गया था.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें