अचानक देश को क्या हो गया? जिधर देखो सांप्रदायिक दंगे

नई दिल्ली: बीजेपी की जीत का जश्न लगता है दंगों के साथ मनाया जा रहा है. देश भर में सामुदायिक तनाव बढ़ गया है और सांप्रदायिक शक्तियां लगातार माहौल बिगाड़ने में लगी हैं. प्रशासन की चौकसी ही है जो हालात को काबू कर पा रही है. आपको बताते हैं सिर्फ अप्रेल मं हुए बड़े तनाव की खबरें जो नेशनल मीडिया में खबर बनीं. छोटी मोटी खबरों का तो कोई हिसाब ही नहीं है.

झारखंड के राची में तनाव (11 अप्रेल 2017)

रांची में सांप्रदायिक तनाव, पूरा क्षेत्र छावनी में तब्दीलरांची में सांप्रदायिक तनाव, पूरा क्षेत्र छावनी में तब्दीलभड़काऊ गाना बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच सांप्रदायिक तनाव हो गया। घटना झारखंड के रांची की है।

रांची, जेएनएन। रांची के मेन रोड में भड़काऊ गाना बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच सांप्रदायिक तनाव हो गया। दोनों समुदाय के सैकड़ों लोगों ने सड़क पर आकर नारेबाजी की। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर डीसी, एसएसपी सहित तमाम वरीय पदाधिकारी पहुंच गए। हर तरफ दहशत का माहौल है। पुलिस मामले को नियंत्रित करने की कोशिश में जुटी हुई है। पूरा क्षेत्र छावनी में तब्दील है।

 

बंगाल के वीरभूम में तनाव (11 अप्रेल 2017)

कोलकाता: पश्चिम बंगाल के वीरभूम जिले के सीओड़ि में आज सुबह 11:30 बजे के आसपास हनुमान जयंती पर जय श्रीराम की जयकारे के साथ केसरिया जुलूस निकलने को लेकर जबरदस्त तनाव व्याप्त हो गया, क्योंकि इस जुलूस को प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिली थी।

इसके बावजूद हजारों हजारों लोग जय श्रीराम की जयकार लगाते हुए सड़क पर निकल पड़े, जब पुलिस ने हनुमान भक्तों को रोकने की कोशिश की तो धक्का-मुक्की शुरू हो गई। हजारों लोग पुलिस बैरिकेट तोड़कर आगे निकलने लगे तो पुलिस को इन्हें रोकने के लिए लाठी चार्ज करना पड़ा। इसमें कई लोग घायल हो गए। जगह-जगह बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है। पुलिस उन्हें समझा रही है कि वह अपने जुलूस को समाप्त कर दें, लेकिन लोग मानने के लिए तैयार नहीं हैं।

गौरतलब है कि हनुमान जयंती पर इस जुलूस को प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिली थी। पहले इस जुलूस को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष नेतृत्व देने वाले थे, लेकिन अनुमति नहीं मिलने के बाद उन्होंने इसे रद कर दिया था। लेकिन हनुमान भक्त भाजपा व प्रशासन के निर्देश को दरकिनार करते हुए जय श्रीराम की जय कार लगाते हुए सड़क पर निकल पड़े.

हाजीनगर में तनाव बरकरार(10 अप्रेल 2017)

उत्तर 24 परगना जिले के नैहाट्टी थाना अंतर्गत हाजीनगर में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है। यहां रविवार को एक घर में बम विस्फोट हुआ था, जिसमें दो युवकों की मौत हो गई थी। दोनों अल्पसंख्यक समुदाय के हैं। आरोप है कि धार्मिक जुलूस के दौरान इलाके में अशांति फैलाने के उद्देश्य से घर में बम बनाया जा रहा था, तभी उक्त बम फट गया और उक्त दोनों युवक बम की जद में आ गए।

इनमें से एक ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि सोमवार को गंभीर रूप से घायल दूसरे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इसे लेकर इलाके में तनाव की स्थिति बनी हुई है। ऐहतियातन प्रशासनिक मुस्तैदी बढ़ा दी गई है।

हाजीनगर वही इलाका है, जहां चंद महीने पहले सांप्रदायिक तनाव फैला था और इलाका कई दिनों तक मीडिया की सुर्खियों में रहा था। यूं तो यहां पहले से ही रामनवमी पर जुलूस निकलता रहा है, लेकिन इस बार ऐहतियातन पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए थे।

आगरा में तनाव (6अप्रेल 2017)

आगरा में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति पैदा हो गई जब यहां दो पक्षों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई। पत्थरबाजी में कुछ लोग घायल भी हुए। फिलहाल, पुलिस ने मौके पर पहुंचकर स्थिति को काबू में किया। बताया जा रहा है कि दो समुदायों के बीच दुकान में बननेवाले खाने को लेकर बहस हुई जिसके बाद मामला बढ़ गया। यूपी के आगरा में गश्त पर तैनात पुलिस कॉन्स्टेबल अजय कुमार की हत्या से सनसनी फैल गई। इससे भी बड़ी बात ये है कि कॉन्स्टेबल अजय कुमार की हत्या के पीछे सीनियर पुलिस अधिकारी का हाथ माना जा रहा है। इस मामले मृतक के साथी ने सीनियर पर संगीन आरोप लगाए हैं।

कानपुर देहात में तनाव (8 अप्रेल 2017)

अकबरपुर में वेडनेसडे को जवारा यात्रा में डीजे पर आपत्तिजनक गाना बजने के बाद शुरू हुए विवाद ने हिंसक रूप ले लिया। बवाल अकबरपुर के रामगंज इलाके में हुआ। जहां दो समुदायों के लोग भिड़ने की सूचना पर भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गई। बवाल बढ़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज किया तो पथराव हो गया। जिसमें एसपी समेत कई पुलिस कर्मी व महिलाएं भी घायल हो गईं। जिसके बाद हालात काबू करने के लिए पूरे जिले का फोर्स और पीएसी को बुला लिया गया। बवाल की वजह से जवारे लेकर चल रहे श्रृद्धालुओं ने जवारों को रख दिया। रात तक इलाके में भारी तनाव की वजह से आलाधिकारी भी पहुंच गए.
यूपी के बदायूं में तनाव (3 अप्रेल 2017)
उत्तर प्रदेश के बदायूं और हापुड़ में सांप्रदायिक तनाव फैल गया है। बदायूं में मस्जिद की जमीन विवाद को लेकर दोनों समुदायों के बीच तनावपूर्ण माहौल है। जनसत्ता की खबर के मुताबिक इसी तनावपूर्ण में पहुंची साध्वी प्राची ने मस्जिद को लेकर कथित तौर पर बयानबाजी की। साध्वी प्राची ने कहा कि वह जमीन पर कोई भी अवैध ढांचा नहीं बनने देंगी।

शुक्रवार को उस वक्त दोनों समुदायों में झड़प हो गई जब जुमे की नमाज अदा की गई। मुस्लिमों का कहना है कि मस्जिद के लिए गांव के पूर्व प्रधान ने जमीन दी थी, जबकि हिन्दूओं का कहना है कि जमीन अवैध है। वहीं हापुड़ जिले के उपेंदा में भी सांप्रदायिक तनाव फैल गया है। दो समुदायों ने झड़प के बाद माहौल तनावपूर्ण है।

 

 

 

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें