विनोद खन्ना का निधन

विनोद खन्ना का निधन




जाने माने फिल्म अभिनेता विनोद खन्ना का निधन हो गया है. विनोद खन्ना 70 वर्ष के थेमुंबई के अस्पताल में ली आखिरी सांस. पिछले कुछ समय से थे बीमार. कैंसर का चल रहा था इलाज़.

विनोद खन्ना का जन्म 6 अक्टूबर,1946 को पेशावर में हुआ था.  उनका परिवार अगले साल 1947 में हुए विभाजन के बाद पेशावर से मुंबई आ गया था. उनके माता-पिता का नाम कमला और किशनचंद खन्ना था.

पढ़ाई

1960 के बाद की उनकी स्कूली शिक्षा नासिक के एक बोर्डिग स्कूल में हुई वहीं उन्होने सिद्धेहम कॉलेज से कॉमर्स में ग्रेजुएशन किया था.

करियर

उन्होंने अपने फ़िल्मी सफर की शुरूआत 1968 मे आई फिल्म “मन का मीत” से की जिसमें उन्होने एक खलनायक का अभिनय किया था. कई फिल्मों में उल्लेखनीय सहायक और खलनायक के किरदार निभाने के बाद 1971 में उनकी पहली सोलो हीरो वाली फिल्म हम तुम और वो आई. कुछ वर्ष के फिल्मी सन्यास, जिसके दौरान वे आचार्य रजनीश के अनुयायी बन गए थे, के बाद उन्होने अपनी दूसरी फिल्मी पारी भी सफलतापूर्वक खेली और अभी तक भी फिल्मों में सक्रिय हैं.

राजनीती करियर

वर्ष 1997 और 1999 में वे दो बार पंजाब के गुरदासपुर क्षेत्र से भाजपा की ओर से सांसद चुने गए. 2002 में वे संस्कृति और पर्यटन के केन्द्रिय मंत्री भी रहे. सिर्फ 6 माह पश्चात् ही उनको अति महत्वपूर्ण विदेश मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री बना दिया गया.