युद्ध की तरफ बढ़ रहे हैं उत्तर कोरिया और ट्रंप, चीन ने किया हस्तक्षेप

युद्ध की तरफ बढ़ रहे हैं उत्तर कोरिया और ट्रंप, चीन ने किया हस्तक्षेप




नई दिल्ली: उत्तर कोरिया और अमेरिका तनाव की और एक कदम और बढ़ गए हैं. डोनाल्ड ट्रंप धमकी के बाद धमकी दे रहे हैं और उत्तर कोरिया परमाणु परीक्षण करने के अपने फैसले से पीछे हटने को तैयार नहीं है. इस बीच चीन ने उत्तर कोरिया को परमाणु परीक्षण करने को लेकर आगाह करते हुए कहा कि ऐसे खतरनाक और गैरजिम्मेदाराना कदम से किसी भी समय संघर्ष की स्थिति पैदा हो सकती है. चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि उत्तर कोरिया को लेकर किसी भी क्षण संघर्ष छिड़ सकता है. इसके साथ ही उन्होंने अमेरिका के साथ बढ़ रहे तनाव को लेकर चेतावनी दी कि किसी युद्ध में कोई भी विजेता नहीं होता.

वांग ने कहा, एक तरफ अमेरिका और दक्षिण कोरिया हैं तथा दूसरी ओर उत्तर कोरिया है. दोनों के बीच तनाव बढ़ गया है. इन हालात को देखते हुए हमें ध्यान देने की जरूरत है. उन्होंने कहा, हम सभी पक्षों से आग्रह करते हैं कि सभी पक्ष भड़ाकाउ या धमकी देने वाले बयानों से बचें तथा कोरियाई प्रायद्वीप पर हालात बेकाबू होने से रोकें.

यह बयान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के उस बयान के बाद आया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि उत्तर कोरिया की समस्या से निपट लिया जाएगा. राष्ट्रपति ने यह बयान उन अटकलों पर दिया था, जिनमें कहा गया था कि उत्तर कोरिया एक अन्य परमाणु या मिसाइल परीक्षण की तैयारी कर सकता है.

उत्तर कोरिया ने परमाणु हमले की चेतावनी
वहीं ट्रंप के इस ट्वीट उत्तर कोरिया ने कहा कि उनके ये आक्रामक ट्वीट परेशानी खड़ी कर रहे हैं. प्योंगयांग में एसोसिएट प्रेस को दिए गए इंटरव्यू में उत्तर कोरिया के उप विदेश मंत्री हान सोंग रियॉल ने कहा कि अमेरिका के पूर्वानुमानित हमले के मद्देनजर प्योगयांग चुप नहीं बैठ सकता. हान ने कहा, अगर अमेरिका दुस्साहस भरे सैन्य दांवपेच दिखाता है, तो डेमोक्रेटिक पीपल्स रिपब्लिक ऑफ कोरिया (DPRK) इसका जवाब संभावित हमले से देगा. उन्होंने कहा, हमारे हाथों में परमाणु हथियार की शक्तिशाली काट है और निश्चित रूप से हम अमेरिका के संभावित हमले पर चुप नहीं बैठेंगे.

कोरियाई प्रायद्वीप में गहराया संकट
बता दें कि कोरियाई प्रायद्वीप में इन दिनों संकट गहरा गया है क्योंकि अमेरिका ने प्रायद्वीप की ओर अपना विमानवाहक पोत रवाना कर दिया है और दक्षिण कोरिया के साथ अभी तक का सबसे बड़ा संयुक्त सैन्य अभ्यास कर रहा है. इसी बीच प्योंगयांग ने हाल ही में बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है और कुछ विशेषज्ञों का कहना है कि यह देश कभी भी दूसरा परमाणु परीक्षण कर सकता है. इसे लेकर व्हाइट हाउस के एक विदेश नीति सलाहकार ने शुक्रवार को कहा था कि उत्तर कोरिया के हथियार कार्यक्रमों के जवाब में अमेरिका सैन्य विकल्पों का आकलन कर रहा है.