इन 12 नये सांसदों को मिल सकता है मोदी कैबिनेट में मौका

इन 12 नये सांसदों को मिल सकता है मोदी कैबिनेट में मौका




नई दिल्ली: पीएम नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में 12 नये चेहरे शामिल हो सकते हैं. जल्द ही होने जा रहे मंत्रिमंडल फेरबदल में कई मंत्रियों को बाहर का रास्ता दिखाने की भी तैयारी है. सूत्रों के मुताबिक मोदी ने नये मंत्रिमंडल की सूची तैयार कर ली है और इस पर बीजेपी अध्यक्ष अमितशाह के साथ चर्चा भी कर ली गई है. मामले पर मंत्रियों को उनके राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक प्रदर्शन की कसौटी पर कसा जाएगा. साथ ही 2019 को भी ध्यान में रखा जाएगा. बजट सत्र खत्म होते ही सरकार के अंदर विस्तार को लेकर तैयारियां शुरू हो जाएंगी.

मंत्रिमंडल विस्तार में प्रतिनिधित्व का लंबे समय से इंतजार कर रहे उत्तराखंड पर नजर-ए-इनायत हो सकती है. यहां से भगत सिंह कोश्यारी या रमेश पोखरियाल निशंक को मंत्रिमंडल में जगह मिल सकती है. गुजरात, मध्य प्रदेश, राजस्थान, ओडिशा जैसे चुनावी राज्यों के नेताओं को भी जगह मिल सकती है. यूपी से भी मंत्रियों को मौका मिलने की संभावना है.

जिनका होगा प्रमोशन

धर्मेंद्र प्रधान- पेट्रोलियम मंत्रालय की उज्जवला योजना विधानसभा चुनाव में गेम चेंजर साबित हुई है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान को इसका इनाम मिल सकता है.

पीयूष गोयल- गोयल ने हर गांव में बिजली पहुंचाने की पीएम की महत्वाकांक्षी योजना को सफलतापूर्वक आगे बढ़ाया है. ऐसे में इन्हें तरक्की मिल सकती है.

नितिन गडकरी- मोदी इनके प्रदर्शन से खुश हैं. कहा जा रहा है कि पीएम मोदी परिवहन से जुड़े सभी मंत्रालयों के विलय के पक्षधर हैं. गडकरी को ही इन संयुक्त मंत्रालयों का जिम्मा मिलेगा.

अरुण जेटली- जीएसटी बिल का कानूनी जामा पहनने का रास्ता साफ करने और नोटबंदी को सफलता के साथ लागू करने का इनाम जेटली को मिल सकता है. उन्हें पूर्णकालिक रक्षा मंत्री या विदेश मंत्री बनाया जा सकता है.

 

इनकी हो सकती है छुट्टी

कलराज मिश्र- पहले ही 75 वर्ष की उम्र सीमा पार कर चुके एमएसएमई मंत्री कलराज मिश्र मंत्री लघु और मध्यम उद्योगों के लिए कुछ खास नहीं कर सके हैं. लिहाजा उन्हें हटाकर राज्यपाल बनाया जा सकता है.

निर्मला सीतारमण- हालांकि निर्यात में जरूर कुछ सुधार हुआ है, मगर पीएम मोदी की महत्वाकांक्षी योजनाओं स्टार्टअप, स्टैंडअप और मेक इन इंडिया को मिली औसत से कम सफलता निर्मला पर भारी पड़ सकती है. इन्हें संगठन में भेजे जाने की चर्चा है.

 

संसदीय कार्य मंत्रियों की टीम

संसद में सांसदों की कम उपस्थिति और कई मौकों पर मंत्रियों की अनुपस्थिति के कारण हुई सरकार की किरकिरी से पीएम मोदी खासे नाराज हैं. माना जा रहा है कि पीएम मोदी विस्तार में संसदीय कार्य मंत्रियों की टीम में बड़ा परिवर्तन करेंगे.

 

दर्जन भर चेहरों पर नजर

पीएम मोदी मंत्रियों के विभागों में बदलाव के साथ-साथ कम से कम एक दर्जन मंत्रियों की छुट्टी करेंगे. इनकी जगह लेने के लिए खुद पीएम ने 12 सांसदों का चयन किया है

कैसा लगा