हम किसी से कम नहीं. इंडिया के पास भी है महाबम

हम किसी से कम नहीं. इंडिया के पास भी है महाबम




नई दिल्ली: क्या आप जानते हैं कि भारत के पास भी एक ऐसा ही हथियार है. इजरायल में बना स्पािइस भारत के पास इस तरह का जो हथियार है उसे स्‍पाइस यानी स्मासर्ट प्रिसाइज इंपैक्टर एंड कॉस्टल इफेक्टिव कहते हैं. स्पा इस बम भारत के पास वह सबसे ताकतवर हथियार है जो परमाणु हथियार नहीं है लेकिन इसकी क्षमता उससे कम भी नहीं है.
स्पााइस को इजरायल की फर्म राफाल एंडवांस्डै डिफेंस सिस्टेम्सब लिमिटेड ने तैयार किया है. यह एक ऐसा बम है जिसे मिराज 2000 फाइटर जेट कहीं भी गिराया जा सकता है. इंडियन एयरफोर्स ने इसे सुखोई-30 एमकेआई क‍े साथ भी टेस्टग किया है. सुखोई 550-एलबी क्लािस के 26 बम आसानी से ले जा सकता है. 450 किलोग्राम का स्पाटइस स्पाहइस का वजन 450 किलोग्राम है और यह करीब तीन मीटर लंबा है. इस बम की खरीद में मोदी जी का कोई योगदान न होते हुए भी ये जबरदस्त बम है.
हालांकि स्पा3इस अमेरिका के पास मौजूद मोआब या फिर रूस के पास मौजूद एफओएबी बम की लीग में नहीं आता है. रिपोर्ट्स की मानें तो चीन और पाकिस्तामन के पास भी इस तरह का हथियार नहीं है जो अमेरिका या फिर रूस का मुकाबला कर सके. रूस के पास फादर ऑफ ऑल बम यानी एफओएबी है और सूत्रों की मानें तो यह अमेरिका के मोआब से चार गुना ज्याादा ताकतवर है. फोआब का ब्लाहस्टर रेडियस 300 मीटर का है और यह मोआब के रेडियस से दोगुना है. यह मोआब से दोगुना तापमान पैदा करता है.
अमेरिका ने गुरुवार को अपना तातकवर बम ईस्टकर्न अफगानिस्ताहन में गिराया है. अमेरिका के जीबीयू-43 जिसे मदर ऑफ ऑल बम यानी एमओएबी कहते हैं एक नॉन न्यू क्यिर वेपन है. यह बम सबसे बड़े क्षेत्र में सबसे ज्यावदा तबाही मचाता है. इसका वजन 21,600 पौंड है तो इसकी कीमत करीब 16 मिलियन डॉलर है.