किसानों के प्रदर्शन में ते़ज़ रफ्तार ट्रक घुसा, 20 की मौत

किसानों के प्रदर्शन में ते़ज़ रफ्तार ट्रक घुसा, 20 की मौत




नई दिल्ली: आंध्र प्रदेश में प्रदर्शन कर रहे किसानों के बीच एक ट्रक के घुस जाने के कारण कम से कम 20 लोगों की मौत हो गई है.
आंध्र प्रदेश पुलिस ने कहा कि पुलिस थाने के सामने प्रदर्शन कर रहे किसानों के एक समूह में तेज़ रफ़्तार एक ट्रक घुस गया.
तिरुपति (शहर) की पुलिस अधिक्षक जया लक्ष्मी ने कहा कि मारे गए लोगों में 14 लोगों की मौत बिजली का झटका लगने के कारण हुई.
उनके अनुसार, बिजली के खंभे से टक्कर लगने के बाद बिजली का तार प्रदर्शनकारियों पर गिर गया था.
घायल हुए 15 लोगों में अधिकतर बिजली का झटका लगने से झुलस गए हैं.
शुक्रवार को चित्तूर ज़िले में येरपेडु पुलिस स्टेशन के सामने हुई इस घटना में कई अन्य लोग घायल हुए हैं.
इलाक़े में रेत की तस्करी को बंद किए जाने की मांग लेकर मंगलपालेम गांव के किसान प्रदर्शन कर रहे थे.
प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि तेज़ रफ़्तार ट्रक ने सबसे पहले एक कार और बिजली के खंभे को टक्कर मारी और उसके बाद भीड़ में जा घुसा.
मौके पर मारे गए लोगों में अधिकांश किसान हैं. घायलों को सरकारी और निजी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है.
पुलिस का कहना है कि कालाहस्ती से तिरुपति जा रहे ट्रक के ड्राइवर के गाड़ी पर नियंत्रण खोने की वजह से ये हादसा हुआ.
लेकिन स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि ये हादसा जानबूझ कर कराया गया.
चित्तूर के पुलिस अधिक्षक जी श्रीनिवास ने कहा कि हादसे की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.
मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने घटना पर अफ़सोस ज़ाहिर करते हुए मारे गए लोगों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की है.
स्थानीय लोगों द्वारा साजिश का आरोप लगाए जाने पर राज्य परिवहन मंत्री अच्छन नायडू ने कहा कि घटना के कारणों की जांच के आदेश दे दिए गए हैं. सौजन्य बीबीसी