एसबीआई ने फिर बढ़ाए कई चार्ज, मिनिमम बैलेंस 10 गुना किया, लॉकर भी भयंकर महंगा

एसबीआई ने फिर बढ़ाए कई चार्ज, मिनिमम बैलेंस 10 गुना किया, लॉकर भी भयंकर महंगा




नई दिल्ली : मोदी के अचानक लिए गए नोटबंदी के अफलातूनी फैसले का असर अबतक लोगों पर पड़ रहाहै. सरकार ने जबरदस्ती बैंकों में पैसे तो जमा करवा दिए. अब बैंकों पर उस पैसे का ब्याज़ चुकाने का दबाव लगातार बढ़ रहा है. अपने इस घाटे की भरपाई के लिए बैंक जनता का गला काटने पर उतारू हैं.

भारतीय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने सेविंग्स अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने वाले कस्टमर्स से ज्यादा चार्ज लेना शुरू कर दिया है. अब चेक बुक और लॉकर्स जैसी सर्विस के लिए भी ज्यादा पैसे का भुगतान करना पड़ेगा. बैंक के इस फैसले का असर उन पांच बैंक के कस्टमर्स पर भी पड़ेगा, जिनका मर्जर हाल में एसबीआई के साथ हुआ.ये नए चार्ज 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, एसबीआई के इस फैसले के बाद दूसरे बैंक भी एटीएम इस्तेमाल की लिमिट, चेक बुक, लॉकर्स जैसी सर्विसेस के नियम में बदलाव कर सकते हैं.

एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक, ये नए चार्ज 1 अप्रैल से लागू हो गए हैं. 6 मेट्रो सिटी में मंथली एवरेज बैलेंस (एमएबी) को बढ़ाकर 5000 रुपए कर दिया है. सेविंग्स अकाउंट होल्डर को मंथली बैलेंस को बनाए रखना होगा. अगर ऐसा नहीं होता है तो पेनल्टी देनी होगी. इससे पहले 31 मार्च तक सेविंग्स बैंक अकाउंट के लिए चेक बुक फैसिलिटी न होने की स्थिति में एमएबी 500 रुपए थी. वहीं, चेक बुक के साथ 1000 रुपए थी. बैंक ने ये नियम बदले

  1. एमएबी अलग अलग तय की अगले फाइनेंशियल ईयर के लिए एसबीआई ने मेट्रो, अरबन, सेमी अरबन और रूलर एरिया के लिए अलग अलग मंथली एवरेज बैलेंस (एमएबी) तय किया है. मेट्रो ब्रांच के लिए सेविंग्स अकाउंट के एमएबी को बढ़ाकर 5000 रुपए कर दिया गया है. अगर इसे बनाए रखा नहीं जाता तो 50 से 100 रुपए तक का चार्ज किया जाएगा. अरबन और सेमी अरबन ब्रांच के लिए एमएबी 3000 और 2000 रुपए तय की गई है. वहीं, रूलर ब्रांच के लिए अकाउंट में मिनिमम बैलेंस 1000 रुपए तय किया गया है. अगर कोई कस्टमर्स ऐसा नहीं कर पाता है तो उसे 20 से 50 रुपए चार्ज किया जाएगा.
  2. लॉकर्स बैंक ने लॉकर्स का किराया भी बढ़ा दिया. वहीं, साल में फ्री लॉकर के इस्तेमाल के नंबर को भी कम कर दिया है. अब आप 12 बार लॉकर्स का इस्तेमाल कर सकते हैं. इसके बाद कस्टमर्स को 100 रुपए के साथ सर्विस टैक्स भी देना होगा.
  3. चेकबुक एसबीआई एक फाइनेंशियल ईयर में पहले 50 चेक मुफ्त देगा. इसके बाद हर लीफ या चेक के लिए आपको तीन रुपए का भुगतान करना होगा. यानी 25 लीफ की चेक बुक के लिए आपको 75 रुपए के साथ सर्विस टैक्स देना होगा. वहीं, 50 लीफ की चेक बुक के लिए 150 रुपए के साथ प्लस सर्विस टैक्स देना होगा. 4. ओपनिंग फी सेविंग्स अकाउंट के एनरोलमेंट के लिए आपको ओपनिंग फीस के तौर पर 20 रुपए देना होगा.
  4. अनलिमिटेड एटीएम इस्तेमाल के लिए 25000 रुपए बैलेंस जरूरी यदि कोई कस्टमर्स एसबीआई सेविंग्स अकाउंट में 25,000 रुपए मंथली मेनटेन करता है तो उसे एटीएम के इस्तेमाल के लिए कोई चार्ज नहीं देना होगा. नहीं तो पांच बार से ज्यादा के इस्तेमाल पर कस्टमर को आरबीआई की गाइडलाइंस के मुताबिक चार्ज देना होगा. इन तीन अकाउंट पर लागू नहीं होगा एमएबी एसबीआई का मंथली एवरेज बैलेंस (एमएबी) नियम सुरभि, बेसिक सेविंग्स बैंक और पीएम जन धन योजना अकाउंट्स पर लागू नहीं होगा. एसबीआई में इन पांच बैंक का मर्जर हुआ स्‍टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर, स्‍टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्‍टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्‍टेट बैंक ऑफ पटि‍याला, स्‍टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर का एसबीआई में मर्जर हो गया है. अब बैंक का टोटल कस्‍टमर बेस 37 करोड़ है.