ऊपरवाले के नाम पर ओडिशा में हिंसा, फेसबुक पर टिप्पणी के बाद आगजनी, 35 गिरफ्तार

भद्रक: सोशल मीडिया पर लोग कभी कभी कुछ ज्यादा ही सीरियस हो जाते हैं. ओडिशा के शहर भद्रक में पर कथित आपत्तिजनक टिप्पणी के बाद लोग इतना भड़के कि उन्होंने अपने ही शहर को आग लगानी शुरू कर दी. हालात बेकाबू होते देख प्रशासन ने शहर में कर्फ्यू लगा दिया है. जिला प्रशासन ने मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए एहतियातन स्कूल-कॉलेजों को बुधवार तक के लिए बंद कर दिया गया है.

प्रशासन ने शुक्रवार को हालात बिगड़ने पर धारा 144 लगाई थी लेकिन शहर में शांति ना होते देख शुक्रवार साम कर्फ्यू लगाया गया, शनिवार शाम तक कर्फ्यू का ऐलान है इसके बाद अधिकारी हालात देखकर कर्फ्यू हटाने पर विचार करेंगे.

एसपी दिलीप कुमार दास ने कहा है कि पुलिस ने अब तक 35 लोगों को हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किया है. पुलिस का कहना है कि दो समुदायों के आमने-सामने के टकराव की रिपोर्ट नहीं है. एक धार्मिक टिप्पणी के बाद आगजनी बताया जा रहा है कि सोशल मीडिया पर  और  के बारे में कथित रूप से टिप्पणी के बाद भद्रक में हिंसा हुई. फेसबुक पोस्ट पर विश्व हिन्दू और बजरंग दल के लोगों ने सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया.

इस दौरान अल्पसंख्यक समुदाय की दुकानों को निशाना बनाया और उनमें आग लगा दी. शहर में हिंसा और आगजनी के साथ ही लूटपाट की भी घटनाएं सामने आई हैं. कई घरों और दुकानों को जलाए जाने के बाद कानून व्यवस्था को नियंत्रित करने के लिए 35 प्लाटून पुलिस बल शहर में तैनात किए गए हैं. शुक्रवार शाम को शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया था.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें