वायरल हो रहा है बीजेपी मु्ख्यालय का नक्शा, तस्वीर में देखिए वजह

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी का दफ्तर छिनने के बाद ये नक्शा लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस नक्शे में बीजेपी मुख्यालय 11 अशोक रोड की सेटेलाइट तस्वीरें है. तस्वीरों में दिखाया गया है कि 11 अशोक रोड स्थित बीजेपी मुख्यालय में किस तरह गैर कानूनी तरीके से अवैध निर्माण किए गए हैं. तस्वीर में बीजेपी मुख्यालय और उसके आसपास की इमारतों को दिखाया गया है. लाल घेरे में दिखाए गए बीजेपी मुख्यालय 11 अशोक रोड में पास ही के लुटियन्स ज़ोन के बंगलों सो करीब 10 गुना निर्माण किया गया है. बीजेपी दफ्तर में लगे पेड़ भी काटे गए हैं. इस तस्वीर का मतलब साफ है कि बीजेपी ने अपने दफ्तर में लुटियन्स जोन के निर्माण नियमों का उल्लंघन किया है. आपको बता दें कि लुटियंस ज़ोन में बने बंग्लों में निर्माण की इजाजत नहीं है.

आपको पता होगा कि कल दिल्ली के उप राज्यपाल ने आम आदमी पार्टी के दफ्तर का आवंटन रद्द कर दिया था. ये दफ्तर उस बंगले में चल रहा था जो उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया को आवास के लिए दिया गया था. उल्ले खनीय है कि शुंगलू समिति की रिपोर्ट में कहा गया कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने आम आदमी पार्टी को दफ्तर देने के लिए जो प्रक्रिया अपनाई वह अवैध है. दिल्ली सरकार ने दिल्ली में आईटीओ के पास दीनदयाल उपाध्याय मार्ग पर 206, राउज़ एवेन्यू ‘आप’ को दफ्तर के लिए आवंटित किया है. शुंगलू समिति ने कहा कि दिल्ली सरकार ने इसके लिए पॉलिटिकल पार्टियों को दफ्तर के लिए जमीन देने की बाकायदा नई पॉलिसी बनाई, जिसमें ये भी कहा गया कि जमीन पाने योग्य पार्टियों को 5 साल तक कोई इमारत या बंगला दिया जा सकता है, क्योंकि इतने समय में वह अपनी आवंटित ज़मीन पर दफ़्तर बना सकते हैं.

समिति की रिपोर्ट में कहा गया है ‘लैंड दिल्ली सरकार का अधिकार क्षेत्र नहीं इसलिए आदेश रद्द होना चाहिए. यह साफ है कि पॉलिटिकल पार्टी को जमीन देने का फैसला इसलिए लिया गया ताकि आम आदमी पार्टी को सरकारी आवास मिल सके.
‘आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि ‘जिस पार्टी के विधानसभा में केवल तीन विधायक हैं उसके पास दफ़्तर है, जिस पार्टी का विधानसभा में एक भी विधायक नहीं, उसका दफ़्तर भी हमारे सामने है और जिस पार्टी की सरकार दिल्ली में उसका कोई दफ़्तर नही होगा! दिल्ली की जनता ये सब ‘डर्टी ट्रिक्स’ देख रही हैं… चुनाव में इसका जवाब देगी’.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें