स्वीडन : स्टॉकहोम के स्टोर में घुसा ट्रक, 5 की मौत, बिना हथियार का एक और आतंकी हमला

स्टॉकहोम: यहां शुक्रवार को हाईजैक किए गए एक ट्रक को लोगों पर चढ़ा दिया गया. बाद में ट्रक एक स्टोर में घुस गया. घटना में 5 लोगों की मौत हुई. स्वीडिश पीएम स्टेफेन लोफवेन ने कहा यह आतंकी हमला भी हो सकता है. जिस जगह घटना हुई, वहां से इंडियन एम्बेसी 100 मीटर की दूरी पर है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, घटना के लिए जिम्मेदार शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है. हालांकि, सरकार ने इसकी पुष्टि नहीं की. नरेंद्र मोदी ने घटना की निंदा की है. आतंकी हमले की तरफ इशारा करते सबूत.
हमले में जिस ट्रक का इस्तेमाल किया गया, वो स्पेनड्रप्स कंपनी का है जो शराब बनाती है.
कंपनी ने शुक्रवार देर रात बयान जारी कर कहा कथित हमले में इस्तेमाल किया गया ट्रक हमारी कंपनी का है. इसे कुछ वक्त पहले चुरा लिया गया था. हालांकि, इस अपडेट पर पुलिस या सरकार की तरफ से कुछ नहीं कहा गया.
डिपार्टमेंटल स्टोर से टकराया ट्रक
स्वीडिश पुलिस ने माना कि इस घटना में कई लोग जख्मी हुए हैं. पुलिस के मुताबिक जांच आतंकी हमले के एंगल पर भी की जाएगी.
घटना स्टॉकहोम के ड्रोटिनिंगटन, क्वीन स्ट्रीट पर हुई. यह शहर का सबसे बिजी इलाका है. यहां लोग पैदल घूमने भी आते हैं.
घटना के बाद, डिपार्टमेंटल स्टोर से धुआं उठता हुआ दिखा. ट्रक इस स्टोर से टकराया था.
स्वीडन के पीएम स्टेफेन लोफवेन ने बताया कि सभी संकेत आतंकी हमले की तरफ इशारा कर रहे हैं.
नरेंद्र मोदी समेत दुनिया के कई नेताओं ने इस हमले की निंदा की है. मोदी ने कहा कि भारत दुख की इस घड़ी में स्वीडन के लोगों के साथ है.
लोग इधरउधर भागते दिखे
स्वीडन पुलिस का कहना है कि यह हादसा या साजिश है, इसकी जांच की जा रही है.
ब्रिटिश मीडिया रिपोर्टों में कहा गया कि ट्रक लोगों को कुचलता हुआ आगे बढ़ा. जान बचाने के लिए लोग सड़क पर भागते दिखे. कुछ लोगों का कहना है कि घटनास्थल पर गोली चलने की भी आवाज सुनाई दी.
एक आईविटनेस ने बताया कि मैं उसी स्ट्रीट पर थी जब यह घटना हुई. लोग भाग रहे थे. चिल्ला रहे थे.
स्वीडन में इंडियन एम्बेसडर मोनिका मेहता ने बताया कि दो लोगों को रोड़ पर गिरा देखा. बहुत तेज आवाज आई. कई लोग जख्मी हुए हैं.
फ्रांस के नीस में ट्रक अटैक में मारे गए थे 84 लोग
फ्रांस के नीस में 2015 में एक हमलावर ने आतिशबाजी देख रहे लोगों पर ट्रक चढ़ा दिया था. इस आतंकी हमले में 84 लोगों की मौत हो गई थी. मौके पर मौजूद पुलिस ने ट्रक पर फायरिंग कर हमलावर को मार गिराया था.
इस हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी. बता दें कि लोग नेशनल डे का जश्न मना रहे थे.
source-dainik bhaskar

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें