योगी ने उठाया केजरीवाल वाला कदम, उमा भारती ने कहा – गलत फैसला

यूपी के नये सीएम योगी आदित्यनाथ के शुरुआती हुकुम भी अभी हजम नहीं हो रहे हैं चूंकि योगी नये नये बने हैं इसलिए कहीं से कोई आवाज नहीं उठ रही. लेकिन शपथ ग्रहण के तीसरे दिन ही मोदी को केजरीवाल के नक्शे कदम पर चलना भारी पड़ गया. यूपी की कमान संभालने के बाद सोमवार सुबह योगी आदित्यनाथ ने वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की. दोपहर में सीएम ने सभी विभागों के सचिवों के साथ बैठक की. इस बैठक के बाद घोषणा हुई कि राज्य मंत्री लाल बत्ती का उपयोग नहीं करेंगे. उन्होंने ये घोषणा दिल्ली के सीएम केजरीवाल की तर्ज पर किया. बस यही पार्टी के नेताओं को नागवार गुजरा है.

पार्टी की भगवाधारी फायर ब्रांड नेता और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने इस फैसले को गलत बताया है. उमा भारती ने कहा कि यह बिल्कुल गलत फैसला लिया गया है. उन्होंने कहा कहा कि अगर कोई मंत्री अपने ड्यूटी पर जा रहा है तो लाल बत्ती भी होनी चाहिए और ट्रैफिक भी रोका जाना चाहिए. अगर इस वजह से हवाई जहाज भी 5-7 मिनट लेट हो तो कोई हर्ज नहीं है.

उमा भारती ने कहा कि अगर मंत्री के देरी से पहुंचने की वजह से कोई बैठक टली या किसी प्रोजेक्ट को समय रहते मंजूरी नहीं मिली तो देश को बड़ा नुकसान हो सकता है.

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई मंत्री अपने किसी निजी काम में जा रहा हो या किसी शादी में भाग लेने जा रहा हो तो उस समय उसे ये सुविधाएं नहीं मिलनी चाहिए.

इस दौरान उमा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि इन्होंने ट्रेंड जो सेट किया है वो गलत है. इससे पहले पंजाब की कैप्टन सरकार में भी मंत्रियों के लाल बत्ती प्रयोग करने पर रोक लगा दी गई है. पंजाब में बनी कांग्रेस सरकार ने भी VVIP कल्चर पर रोक लगा दी है.

 

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें