क्या एनडीए में वापस लौटेंगे नितीश कुमार, मोदी से बढ़ा रहे हैं नज़दीकियां

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश चुनावों में बीजेपी को मिली भारी जीत के बाद बिहार के सीएम नितीश कुमार एक बार फिर राजनीतिक पल्टी मार सकते हैं. हो सकता है कि वो फिर से एनडीए का हिस्सा बन जाएं.  राष्ट्रीय जनता दल के वरिष्ठ नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला किया है और आरोप लगाया है कि नीतीश ने जानबूझकर यूपी में चुनाव नहीं लड़ा ताकि बीजेपी को इसका फायदा मिल सके, वहीं दूसरी और भाजपा  नेताओं ने भी नीतीश कुमार की एनडीए में वापसी के संकेत देकर राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी है. पूर्व उपमुख्यमंत्री और BJP के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने बुधवार को इस बात के संकेत दिए कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर से NDA का दामन थाम सकते हैं. पत्रकारों ने जब सुशील मोदी से पूछा कि क्या नीतीश कुमार NDA में वापस आ सकते हैं, तो इस पर मोदी ने जवाब दिया कि आगे-आगे देखिए होता है क्या, राजनीति में कुछ भी संभव है.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के चुनावी नतीजे के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एसपी और कांग्रेस गठबंधन पर कहा था कि नोटबंदी का विरोध करना दोनों पार्टियों के लिए उत्तर प्रदेश में हितकारी नहीं रहा, जिसकी वजह से उनकी हार हुई. नीतीश के इसी बयान से नाराज होकर रघुवंश प्रसाद सिंह ने उन पर BJP के समर्थन करने का आरोप लगाया था.

राष्ट्रीय जनता दल इस बात को भी लेकर काफी नाराज है कि जिस तरीके से जदयू के दो वरिष्ठ नेता श्याम रजक और संजय सिंह ने होली के दिन केंद्रीय मंत्री रामकृपाल यादव के साथ अनौपचारिक मुलाकात की थी. इन्हीं दोनों घटनाओं को लेकर आरजेडी और जदयू में टकराव की स्थिति बनी हुई है.

इसी टकराव की स्थिति को दूर करने के लिए उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव और राबड़ी देवी ने रघुवंश प्रसाद सिंह से संयम बरतने को कहा और ऐसा कोई भी बयान देने से बचने को कहा जिससे महागठबंधन की सेहत पर बुरा असर पड़ता है.

बस थोड़ा इंतज़ार..

ताज़ा खबरे सबसे पहले पाने के लिए सब्सक्राइब करें

KNockingNews की नयी खबरें सबसे पहले पाने के लिए मुफ्त सब्सक्राइब करें