वो बीबी नहीं थी फिर भी बीबी थी , दीपक तिजोरी को बाहर निकाल दिया लेकिन रखा क्यों था. दिमाग का दही

वो बीबी नहीं थी फिर भी बीबी थी , दीपक तिजोरी को बाहर निकाल दिया लेकिन रखा क्यों था. दिमाग का दही

नई दिल्ली: दीपक तिज़ोरी को उसने घर से बाहर निकाल दिया. लेकिन किस हक से निकाला ये किसी को पता नहीं . दर असल ये भी नहीं पता कि वो किस हक से घर के अंदर थे. वे लम्बे समय से साथ रह रहे हैं, दोनों ने बाकायदा शादी भी की थी, उनकी 20 साल की एक बेटी भी है, लेकिन दोनों की शादी कानूनी रूप से मान्य नहीं है. हालांकि अब दीपक को पता चला है कि शिवानी कानूनी रूप से उनकी पत्नी नहीं हैं. हाल ही में उनकी डिजाइनर पत्नी शिवानी जोशी ने उन्हें घर से बाहर निकाल दिया था, इसके बाद शिवानी ने उनसे तलाक और गुजारा भत्ते के लिए आवेदन किया था.

स्पॉटबॉय की खबर के अनुसार दीपक शिवानी के दूसरे पति हैं. दीपक को गोरेगांव स्थित अपने चार कमरों के घर से बाहर निकालने के बाद शिवानी ने तलाक और गुजारा भत्ते के लिए आवेदन किया, इसके बाद दीपक ने उन्हें जवाब दिया कि वह उनकी पत्नी हैं ही नहीं. दरअसल, दीपक ने एक काउंसलर से कंसल्ट करने के बाद दीपक ने पता लगाया कि शिवानी ने अपने पहले पति से तलाक लिए बिना ही उनसे शादी कर ली थी, पहले पति से तलाक लिए बिना की गई यह शादी कानूनी रूप से मान्य नहीं है.

दीपक से जुड़े एक सूत्र ने स्पॉटबॉय को बताया, “दीपक को घर में घुसने की इजाजत नहीं है, वह केवल एक कमरे का इस्तेमाल कर सकते हैं. इतना ही नहीं शिवानी ने घर के नौकरों को सख्त हिदायत दी है कि उन्हें खाना न दिया जाए न ही उनका कमरा साफ किया जाए.”

खबरों की मानें तो शिवानी को शक है कि दीपक का किसी योग इंस्ट्रक्टर से अफेयर चल रहा है और इस लिए शिवानी ने गुजारा भत्ते के लिए कोर्ट में आवेदन किया है. दीपक के एक दोस्त ने स्पॉटबॉय को बताया, “यदि शिवानी ने अपने पहले पति को तलाक नहीं दिया है तो उनकी और दीपक की शादी का कोई मतलब नहीं है. ऐसे में दीपक क्यों उनका खर्च उठाएं?”

दीपक की बेटी समारा के बारे में बात करते हुए उनके दोस्त ने स्पॉटबॉय को बताया कि समारा 20 साल की हो चुकी हैं, इस वजह से उन्हें भत्ता नहीं दिया जाएगा. हालांकि वह दीपक की तुलना में शिवानी के ज्यादा करीब है.