एक हफ्ते में ही बंद हो गया हैलीकॉप्टर से दिल्ली दर्शन, जानिए क्यों

एक हफ्ते में ही बंद हो गया हैलीकॉप्टर से दिल्ली दर्शन, जानिए क्यों

नई दिल्ली: अभी ओपनिंग को एक हफ्ता भी नहीं हुआ था और देश के पहले हेलिपोर्ट से दिल्ली दर्शन बंद कर दिया गया. 28 फरवरी को शुरू हुए इस हेलिपोर्ट के बंद होने से हर दिन कितने ही लोग हेलिकॉप्टर से दिल्ली दर्शन करने के लिए परेशान हो रहे हैं. एविएशन सूत्रों ने इस बारे में बताया कि जिन हेलिकॉप्टर्स से यहां दिल्ली की 10 से 12 मिनट की जॉय राइड कराई जानी थी उन्हें पवनहंस ने जम्मू-कश्मीर सरकार को फिलहाल किराए दे दिया है.

सूत्रों का कहना है कि ये हेलिकॉप्टर यहां रोहिणी सेक्टर-36 स्थित हेलिपोर्ट से 28 फरवरी को देश की पहली दिल्ली जॉय राइड के टेक ऑफ के दूसरे दिन बाद ही जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना करा दिए गए थे. इसका कारण जम्मू-कश्मीर मे लॉ एंड आर्डर बनाए रखना बताया जा रहा है. पता लगा है कि जम्मू-कश्मीर सरकार ने अपने यहां कुछ इलाकों की हवाई निगरानी के लिए पवनहंस से चार हेलिकॉप्टर किराए पर मांगे थे.

पवनहंस ने जम्मू एवं कश्मीर सरकार को वही चारों हेलिकॉप्टर दे दिए, जिनसे दिल्ली में लोगों को जॉय राइड करानी थी. इन्हीं मे से एक सिंगल इंजन वाले हेलिकॉप्टर से 28 फरवरी को 5 बच्चों को फ्री में पहली जॉय राइड के लिए टेकऑफ कराया गया था. उड्डयन मंत्री पी अशोक गजपति राजू, उड्डयन राज्यमंत्री जयंत सिन्हा और दिल्ली के एलजी अनिल बैजल ने इसे हरी झंडी दिखाई थी.

इसी के साथ कहा गया था कि अब यहां से लोग दिल्ली दर्शन कर सकेंगे. लेकिन अब यह जानकारी मिली है कि इस हेलिपोर्ट से फिलहाल दिल्ली दर्शन सेवा बंद कर दी गई है. हालांकि यह सेवा कितने दिनों के लिए रुकी है इसकी अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है.

पवनहंस हेलिकॉप्टर लिमिटेड के इस हेलिपोर्ट से सरकार को उम्मीद है कि इससे आईजीआई एअरपोर्ट के हेलिकॉप्टर ट्रैफिक को भी इधर डायवर्ट कर दिया जाएगा. इससे आईजीआई पर एयर ट्रैफिक कुछ कम हो सकेगा.

सूत्रों का हालांकि कहना है कि जिस तरह से ये हेलिपोर्ट अपनी ओपनिंग के बाद से बंद हुआ है, उससे लगता नहीं कि ये दिल्ली वालों को अपनी ओर खींच पाएगा. क्योंकि सूत्रों का कहना है कि अगर अभी यहां से जॉय राइड स्टार्ट ही नहीं करनी थी तो फिर इसकी ओपनिंग ही क्यों कराई?